बच्चे पैदा करो नहीं तो पांच करोड़ दो…

हरिद्वार। यहां एक बुजुर्ग दंपती ने अपने बेटे और बहू से कह दिया है कि या तो एक साल के अंदर उन्हें पोता या पोती दें या फिर उनकी परवरिश में खर्च हुए पांच करोड़ रुपये वापस करें। यह मांग लेकर दोनों हरिद्वार जिला अदालत पहुंच गए। उनका कहना है कि उनके बेटे और बहू ने बच्चा पैदा करने से इनकार कर दिया है और इस वजह से वे मानसिक यातना झेल रहे हैं।

दंपती के वकील एके श्रीवास्तव ने बताया कि उन्होने जिला अदालत में याचिका दी है और बेटे-बहू से पांच करोड़ रुपये का मुआवजा मांगा है। इसमें महिला ने कहा कि उन्होंने बेटे की पढ़ाई और एक सफल इंसान बनाने में बहुत धन खर्च किया। इसके बाद 2016 में बेटे की शादी की और खूब पैसा खर्च किया। उन्होंने अपने खर्च पर बेटे और बहू को हनीमून के लिए थाइलैंड भेजा था।

उनका कहना है कि शादी के बाद बहू ने बेटे पर हैदराबाद शिफ्ट होने का दबाव बनाया। इसके बाद से उनकी बात भी बमुशकिल होती है। उनका यह भी आरोप है कि बेटे की ससुराल वाले पूरी तरह नियंत्रण रखते हैं और बेटे की सैलरी भी ले लेते हैं। उन्होंने याचिका में कहा है कि अदालत उन्हें एक साल के अंदर बच्चा पैदा करने को कहे या फिर पांच करोड़ रुपये का मुआवजा देने का निर्देश दे।

पिता का कहना है कि उन्होंने अपना पूरा पैसा बेटे को पायलट बनाने में खर्च किया। अमेरिका में उसकी ट्रेनिंग का इंतजाम किया। अब वह आर्थिक तंगी से गुजर रहे हैं। उनका कहना है कि शादी के 6 साल बाद भी बेटे-बहू बच्चा पैदा नहीं कर रहे हैं।

See also  मुख्यमंत्री ने किया टैगोर नगर शक्तिफार्म में 68.68 करोड़ की विभिन्न विकास योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास