बैशाली: विश्वविद्यालय की स्नातक पार्ट वन आनर्स विषयों की परीक्षा दूसरे दिन भी शांतिपूर्ण रही। मालूम हो कि स्नातक शैक्षणिक सत्र 2020-23 के प्रथम वर्ष की परीक्षा जिले के 7 केंद्रों पर संचालित हो रही है। इसमें दूसरे दिन कला, विज्ञान और कामर्स संकाय की आनर्स विषयों में गुरुवार को प्रथम पाली में ग्रुप सी में इतिहास, भोजपुरी, पीके एंड जी और दूसरी पाली में ग्रुप डी में जियोलाजी, इंग्लिश, मैथिली, पर्सियन, एलएसडब्लू, दर्शनशास्त्र, एआईएच एंड सी, बाटनी, भूगोल की परीक्षा ली गई। इस दौरान दूसरे दिन भी जिले के सभी निर्धारित 7 परीक्षा केंद्रों पर कदाचारमुक्त और शांतिपूर्ण परीक्षा संचालित की गई। किसी भी केंद्र से कोई शिकायत नहीं मिली हैं। परीक्षा प्रथम पाली प्रात: 9 से 12 बजे एवं द्वितीय पाली 2 से संध्या 5 बजे तक संचालित की जा रही है। हालांकि दूसरे दिन कई विषयों में परीक्षार्थियों की संख्या काफी कम थी। लेकिन सभी केंद्रों पर प्रथम पाली में इतिहास एवं दूसरी पाली में भूगोल विषय में परीक्षार्थियों की संख्या अधिक देखी गई।

शहर के आरएन कालेज परीक्षा केंद्र पर आज प्रथम पाली में 923 एवं दूसरी पाली में 1032 परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी। केंद्राधीक्षक सह प्राचार्य डा. रवि कुमार सिन्हा ने बताया कि विश्वविद्यालय के निर्देशानुसार कदाचार मुक्त परीक्षा संचालित की जा रही है। किसी भी तरह की कोई परेशानी नही है। वहीं जिले में पहली बार बनाए गए वीपीएस कालेज देसरी परीक्षा केंद्र पर प्रभारी प्राचार्य सह केंद्राधीक्षक डा. राजीव कुमार के निर्देशन में दूसरे दिन भी कदाचारमुक्त एवं शांतिपूर्ण वातावरण में परीक्षा ली गई। केंद्र पर पहली पाली में 491 एवं दूसरी पाली में लगभग 400 परीक्षार्थी शामिल हुए। इसके पहले परीक्षार्थियों की परीक्षा केंद्र में प्रवेश के पहले सघन जांच की गयी। केंद्र के मुख्य गेट पर प्रवेश पत्र और परीक्षा में प्रयुक्त होने वाले सामानों के अतिरिक्त कुछ भी ले जाने की इजाजत नहीं दी गई। इस दौरान बैग, मोबाइल आदि सामानों के साथ पहुंचे परीक्षार्थियों से बैग और मोबाइल जमा करवाया लिया गया। जिसे परीक्षा के बाद लौटा दिया गया। परीक्षा के संचालन में कालेज कर्मी पूरी तरह मुस्तैद दिखे। केंद्र पर विश्वविद्यालय की ओर से डा. नीलमणि अपनी टीम के साथ काफी सक्रिय थे।

See also  बूस्टर डोज के लक्ष्य को हासिल करना