स्वच्छ भारत मिशन का उलंघन करता इटिमहा पचायत का वार्ड 2, वार्ड वासियों को हो रही असुविधा

नासरीगंज(रोहतास):- स्थानीय प्रखण्ड के इटिम्हा पंचायत के वार्ड 2 में नालियां बजबजा रही हैं। नालियों के भरे होने से पानी का निकासी नहीं हो रहा है। लोगों के घरों के आंगन में नाली जाम होने के कारण गन्दी नाली का पानी भर जा रहा है। वर्षा ऋतु में हल्की बारिश में उक्त वार्ड के सभी घरों के आंगन में औऱ गलियों में जल जमाव हो जाता है। जिससे उक्त वार्ड के लोगों में उक्त कुव्यवस्था को ले रोष वयाप्त है। उक्त वार्ड निवासी शिव कुमार प्रसाद, रवि कुमार, रामचन्द्र पासवान, धनजी सोनी, दशरथ ठाकुर, चंदन सोनी आदि ने बताया कि कई वर्ष से नाली की सफाई एवं उड़ाही नही हुई हैं। उक्त नाली में खचाखच कूड़ा कचड़ा भरा हुआ है। जिससे नाली के पानी का निकासी नही हो रहा है और गन्दी नाली का पानी पूरे वार्ड के गलीयों में बह रहा है। जिससे लोगो को अधिक कठिनाई हो रही है। कई बार मुखिया, वार्ड सदस्य एवं जेई से उक्त विषय में गुहार लगाने से केवल आशवासन मात्र दिया जा रहा है।
उनके द्वारा कहा जा रहा है कि उक्त नाली सफाई को ले फंड नहीं आया है। फ़ंड आने पर उक्त नाली का सफाई एवं उड़ाही किया जायेगा। फ़ंड आने तक वार्ड वासी गंदे नाली के पानी में संक्रामक बीमारी को आमंत्रण देने वाले कचरे में विगत एक वर्ष से रह रहे हैं। आगे भी इसी व्यवस्था में रहने को विवश होना पड़ेगा। उक्त वार्ड के जनप्रतिनिधियों के लापरवाही से स्वच्छ भारत मिशन का उलंघन कर रहा है। इस सम्बंध में पूछे जाने पर उक्त पँचायत के दुबारा जितने वाले मुखिया शशि कुमार ने बताया कि नाली सफाई एवं उड़ाही को ले प्रस्ताव भेजा गया है। पूर्व में भी उक्त नाली की सफाई कराई गई है। वार्ड वासियों का भी दायित्व बनता है कि अपने वार्ड की सफाई रखें। कूड़ा कचड़ा नालियों में न एवं अन्यत्र न फेंकें। शिघ्र उक्त नाली की सफाई एवं उड़ाही कराई जाएगी ताकि वार्डवासियों को असुविधा न हों।इस सम्बंध में पूछे जाने पर बीडीओ मो० जफ़र इमाम ने बताया कि पँचायत की गली एवं नालियों की सफाई की जिम्मेवारी वार्ड सदस्य व मुखिया की है। उन्हें स्वयं वार्ड की सफाई का प्रबंध कराना है। इस में फ़ंड महत्व नहीं रखता। स्वच्छ भारत मिशन का उलंघन किये जाने पर सम्बंधित मुखिया, वार्ड एवं जेई पर पँचायत की सफाई व्य्वस्था में लापरवाही बरतने पर कार्रवाई की जायेगी।
See also  अभी दो दिन और गर्मी व लू झेलना पड़ेगा