किसान सभा में नैनो यूरिया तरल प्रयोग के लाभों के बारे में जानकारी दी

रुड़की (देशराज)। इंडियन फारमर्स फर्टिलाइजर कोऑपरेटिव लिमिटेड ( इफको) द्वारा बहुउद्देशीय किसान सेवा सहकारी समिति लिमिटेड नन्हेड़ा अनंतपुर ब्लॉक रुड़की में किसान सभा का आयोजन किया गया। अध्यक्षता समिति के चेयरमैन आदेश सैनी के द्वारा की गई। मुख्य अतिथि आरके श्रीवास्तव राज्य विपणन प्रबंधक इफको देहरादून थे। कार्यक्रम में सर्वप्रथम डॉक्टर राम भजन सिंह, मुख्य क्षेत्र प्रबंधक, इफको हरिद्वार ने सभी अधिकारियों एवं किसानों का स्वागत करते हुए कार्यक्रम के उद्देश्य पर प्रकाश डाला और किसानों को गन्ने की उन्नत खेती एवं संतुलित उर्वरक प्रयोग के बारे में विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने रासायनिक उर्वरकों के साथ-साथ जैविक उर्वरकों जैसे एनपीके कंसोटिया व सागरिका दानेदार तथा तरल जैविक नेचुरल पोटाश का प्रयोग करने की सलाह दी। जिससे भूमि की उर्वरा शक्ति बनी रहे तथा उपज में बढ़ोतरी हो। मुख्य अतिथि आरके श्रीवास्तव, राज्य विपणन प्रबंधक, इफको देहरादून ने फसलों में इफको के नए उत्पाद नैनो यूरिया तरल के प्रयोग के तरीके और इससे होने वाले लाभों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 500 मिलीलीटर नैनो यूरिया की एक बोतल 45 किलोग्राम यूरिया के एक बैग के बराबर काम करती है। इफको एमसी के रुड़की प्रतिनिधि श्री अंकुश चौधरी द्वारा किसानों को गन्ने की फसल में लगने वाले रोग, कीड़े एवं उनकी रोकथाम के बारे में जानकारी दी। डॉक्टर राम भजन सिंह मुख्य क्षेत्र प्रबंधक, इफको हरिद्वार ने बताया की पारंपरिक दानेदार यूरिया केवल 30% फसलों के काम आता है शेष यूरिया, तेज धूप में उड़ जाता है जो वायुमंडल को प्रदूषित करता है तथा कुछ यूरिया पानी में घुलकर नीचे जमीन में चला जाता है जो भूमि और भूमिगत जल को खराब करता है बाकी बेकार हो जाता है जो फसलों के काम नहीं आता और नैनो यूरिया तरल के प्रयोग से पत्तियों पर स्प्रे करने से स्टोमेटा के द्वारा 80 से 90 प्रतिशत तक पौधों को नाइट्रोजन मिलती है जो 15 से 20 दिन तक काम करती है और नैना यूरिया के प्रयोग से न तो पर्यावरण दूषित होता है और ना ही भूमि व जल प्रदूषित होता है। किसान भाई फसल की बुवाई के पश्चात पत्तियां आने तक पहले व दूसरे पानी पर दानेदार यूरिया का प्रयोग करें और उसके बाद नैनो यूरिया के सागरिका तरल के साथ मिलाकर दो-तीन स्प्रे करें कार्यक्रम में इफको से एसएफए ओमवीर सैनी किसान सेवा सहकारी समिति नन्हेड़ा अनंतपुर के वरिष्ठ आंकिक राजेंद्र सैनी, सुमित सिंह, समिति उपाध्यक्ष एवं संचालक मंडल के सदस्यों सहित लगभग 47 किसानों ने भाग लिया। डॉ राम भजन सिंह मुख्य क्षेत्र प्रबंधक हरिद्वार द्वारा सभी अधिकारियों एवं किसानों को धन्यवाद दिया।

See also  भारत रत्न डॉ राजेंद्र प्रसाद स्वतंत्रता संग्राम के प्रमुख नेता थेे:नवीन जैन