Main

Today's Paper

Today's Paper

Tarunmitra Banner

अनपढ़ होने के बावजूद खड़ी किया अरबो की फैक्ट्री 

लंदन: ब्रिटेन में रहने वाले बुजुर्ग स्टीव रयान खरबपति हो गए हैं. उन्होंने अपनी पत्नी के साथ 28 साल पहले शुरु की हुई कंपनी एक खरब 2 अरब से ज्यादा रुपयों में बेच दी है. 

करीब 63 साल के स्टीव रयान दादा की उम्र के हैं. उन्हें इस बात का अफसोस रहता था कि वे अनपढ़ रह गए लेकिन उन्होंने अपनी इस खामी को कमजोरी नहीं बनने दिया. उन्होंने किचन टेबल बनाने से अपना काम शुरू किया और फिर मधुमक्खी पालन शुरू कर दिया. अब उन्होंने अपनी कंपनी मधुमक्खी का स्वास्थ्य को 100 मिलियन पाउंड यानी 1 खरब 2 अरब 83 करोड़ 9 लाख 93 हजार 250 रुपये में डलास की  कंपनी INW को बेच दिया है. उन्हें मिली रकम इतनी बड़ी है कि वे बहामास में कोई शानदार द्वीप या फाल्कन प्राइवेट जेट भी आसानी से खरीद सकते हैं. 


स्टीव रयान बताते हैं कि अपना बिजनेस शुरू करने से पहले वे एक कंपनी में काम करते थे. एक दिन वे मधुमक्खी पालन करने वाली यूनिट में गए, जहां उन्होंने हजारों की मात्रा में इतने सारे जीव देखे. इतनी बड़ी मात्रा में मधुमक्खियों को देखने और उनकी ओर से बनाए जाने वाले शहद को देखकर उनके मन में ऐसा काम करने की उमंग उठी. इसके बाद उन्होंने अपनी पत्नी मधुमक्खी के साथ मिलकर वर्ष 1992 में यह कंपनी शुरू की थी. अपना बिजनेस शुरू करने के लिए उन्होंने 25 साल की उम्र में खरीदे गए काउंसिल हाउस को ठिकाना बनाया. 


इसके बाद स्टीव रयान ने स्कारबोरो हनी फार्म में खोला, जो जल्द ही टूरिस्टों के आकर्षण का केंद्र बन गया. इसके बाद उन्होंने अपनी कंपनी मधुमक्खी का स्वास्थ्य के लिए एक फैक्ट्री खरीदी. उनकी यह कंपनी ब्रिटेन की टॉप 200 कंपनियों में शामिल हो चुकी है और इसके बड़े आपूर्तिकर्ता हॉलैंड और बैरेट हैं. पिछले साल कोरोना महामारी शुरू होने पर स्टीव रयान ने दावा किया कि उनकी कंपनी में बनीविटामिन डी की गोलियां इस वायरस को दूर रखने में मदद करती हैं. इसके बाद उनकी फैक्ट्री में बनने वाली गोलियों की बिक्री में उछाल आ गया. उन्हें दुनिया भर से इतने ऑर्डर आए कि हर दो सप्ताह में उनकी कंपनी को 50 मिलियन गोलियों का उत्पादन करना पड़ा.

 
स्टीव रयान ने कहा कि कंपनी बेच देने के बावजूद उसमें काम कर रहे 360 स्टाफ पर कोई असर नहीं पड़ेगा. वे सब पहले की तरह काम करते रहें. इनमें चीफ एग्जीक्यूटिव के रूप में काम कर रहा उनका 26 साल का बेटा लुईस रयान भी शामिल है. इसके अलावा कंपनी पहले की ही तरह ब्रिजलिंगटन से काम करती रहेगी. 


स्टीव रयान ने कहा कि उनके बैंक मैनेजर ने उनसे पूछा कि इस डील के बाद वे क्या खरीदने जा रहे हैं लेकिन सच बात ये है कि उन्हें अब किसी चीज की जरूरत नहीं है. उन्हें जीवन जीने के लिए सभी जरूरी चीजें मिल चुकी हैं. वे कहते हैं कि एक अनपढ़ इंसान और 4 बच्चों का बाप होने की वजह से उनकी जिंदगी में संघर्ष ज्यादा बड़ा रहा लेकिन उन्होंने अपनी जिम्मेदारी पूरी कर दी है. उन्होंने कहा कि वे अब केवल वॉलंटियरली वर्क करेंगे और नए उभर रहे उद्यमियों के मेंटर की भूमिका निभाएंगे. 
 

Share this story