Thursday, September 23, 2021 at 5:55 AM

शौचालय निर्माण में हो रहे गोलमाल की शुरू हुई जांच

बस्ती – स्वच्छ भारत मिशन के तहत हुए हर्रैया ब्लॉक में शौचालय का निर्माण कराए बगैर पैसा निकाल लेने और कई जगहों पर अधूरा निर्माण किए जाने संबंधित मामला सुर्खियों में आने पर मंगलवार को प्रशासनिक अधिकारी जांच करने मौके पर पहुंचे। जांच टीम ने पूरे दिन गांव में बिंदुवार एक-एक लाभार्थी से बात की। जानकारी हासिल किया। आधा दर्जन से अधिक ऐसे पात्र मिले जिन्हें पता ही नहीं और शौचालय का पैसा उनके नाम से निकाल लिया गया।
मामले को जिला प्रशासन ने गंभीरता से लेते हुए तीन सदस्यीय जांच टीम का गठन कर दिया। सीडीओ राजेश कुमार प्रजापति द्वारा गठित टीम में जिला ग्रामोद्योग अधिकारी, डीसी एसबीएम और तकनीकी डीआरडीए को शामिल किया गया है। टीम से तीन दिन के अंदर जांच रिपोर्ट मांगी गई है।
इसी क्रम में जिला ग्रामोद्योग अधिकारी की अगुवाई में मंगलवार को टीम गोभिया गांव पहुंची और अभिलेखों के आधार पर 2019-20 व 2020-21 में शौचालय के लाभार्थियों का बिंदुवार बयान दर्ज किया। बड़े पैमाने पर शौचालय अधूरे पाए गए और लाभार्थियों की ओर से यह बताया गया कि उन्हें पैसा ही नहीं मिला है। समौड़ी खुर्द राजस्व गांव के रबी नारायण मिश्र एवं सेवानिवृत्त फौजी प्रमोद कुमार मिश्र सहित आधा दर्जन से अधिक लोगों ने बताया कि उनके पास दशकों से शौचालय है। पता नहीं किसने उनके नाम से पैसा निकाल लिया। डीसी एसबीएम राजा शेर सिंह ने बताया कि जांच चल रही है। रिपोर्ट अधिकारियों को भेज दी जाएगी।

Loading...