मिड डे मिल में एनजीओ को करेंगे शामिल: केशव
मिड डे मिल में एनजीओ को करेंगे शामिल: केशव

मिड डे मिल में एनजीओ को करेंगे शामिल: केशव

-आजीविका मिशन महिलाओं को स्वावलंबी बनाने का बहुत बड़ा प्लेटफार्म
लखनऊ। प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि उत्तर प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन महिलाओं को स्वावलंबी बनाने का बहुत बड़ा प्लेटफार्म है। गरीबी उन्मूलन की यह बहुत बड़ी योजना है। ग्रामीण आजीविका मिशन से गांव में विकास की अविरल गंगा बहेगी। उन्होंने कहा कि बी सी सखी से प्रदेश की महिलाएं आत्मनिर्भर हो रही हैं ।श्री केशव प्रसाद मौर्य ने ग्राम्य विकास विभाग, विशेषकर ग्रामीण आजीविका मिशन के अधिकारियों को निर्देश दिए गए दिए कि वह आजीविका मिशन के तहत चलाई जा रही महिला सशक्तिकरण की विभिन्न योजनाओं को पूरी गंभीरता, संवेदनशीलता तथा गतिशीलता के साथ संचालित करें और हर योजना के बेहतर से बेहतर परिणाम हासिल करने के प्रयास किए जाएं। उन्होंने कहा कि विभाग में बेहतर कार्य करने वाले अधिकारियों ,कर्मचारियों व स्वयं सहायता समूह को सम्मानित किया जाए और कार्यों में लापरवाही बरतने वाले लोगों के विरुद्ध कार्यवाही की जाए। उन्होंने कहा कि ग्रामीण आजीविका मिशन से ज्यादा से ज्यादा लोग फायदा उठाएं, इसके लिए योजनाओं और उनके क्रियान्वयन की जानकारी जन जन तक पहुंचाने का भरसक प्रयास किया जाए ।श्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि मिड-डे-मील में स्वयं सहायता समूह की सहभागिता सुनिश्चित कराने तथा अंतरविभागीय समन्वय बनाकर अन्य विभागों की लाभार्थी परियोजनाओं में समूहों की सहभागिता सुनिश्चित कराने का प्लान बनाया जाए। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि प्रत्येक योजना का गहनता के साथ परीक्षण और आडिट होना चाहिए। आज गन्ना संस्थान में राज्य ग्रामीण सड़क विकास अभिकरण के सभागार में ग्रामीण आजीविका मिशन के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे।इस अवसर पर आजीविका मिशन के सभी बिंदुओं के बारे में बिंदुवार व योजनावार प्रेजेंटेशन किया गया।
उप मुख्यमंत्री ो कहा कि बीसी सखी व अन्य योजनाओं में ग्रामीण महिलाओं और समूहों की महिलाओं को और अधिक प्रोत्साहित किया जाए और यह देखा जाए कि कहीं पर भी किसी का शोषण न होने पाए ।अच्छा कार्य करने वाली  बीसी सखियों को प्रशस्ति पत्र दिए जाएं। बीसी सखी के चयन, प्रशिक्षण ,मुद्रा लोन, संकुल स्तरीय संगठन, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना, ग्राम संगठन को प्रशिक्षण और क्षमता संवर्धन, महिला किसान सशक्तिकरण परियोजना सहित विभिन्न योजनाओं की उपमुख्यमंत्री ने समीक्षा की।

See also  756 छात्रों को टैबलेट वितरित किया गया