Main

Today's Paper

Today's Paper

दिल्ली की नैनी झील में शुरू हुई बोटिंग

jhil

अगर आप दिल्ली में बोटिंग का मजा लेना चाहते हैं अब मॉडल टाउन की नैनी झील में जा सकते हैं। जीहां आज से नैनी झील में बोटिंग शुरू हो गई है।  दिल्ली टूरिज्म एंड ट्रांसपोर्ट डिवेलपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड के अधिकारी का कहना हैं,'  नैनी झील  पर 15 पैडल बोट रखी गई है। यहां पर आप सुबह 11 बजे से 6 बजे तक किसी भी दिन आ सकते हैं। इसके साथ ही हर किसी को कोरोना वायरस की गाइडलाइन को जरूर पालन करना होगा।'

दिल्ली टूरिज्म एंड ट्रांसपोर्ट डिवेलपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड  के अनुसार, 'कोरोना वायरस का ध्यान रखने एक वोट में केवल 2 लोग ही सैर कर सकते हैं। इसके साथ ही हर किसी को मास्क लगाकर हर समय रहना होगा। इसके साथ ही हाथों को एंट्री गेट में ही सैनिटाइज किया जाएगा।'

एंट्री फीस की बात करें तो आधा घंटे के लिए 130 रूपए रखी गई है। जिस में लाइफ गॉर्ड्स, जैकेट आदि आपकी सुरक्षा के लिए दिया जाएगा।  इसके साथ ही कॉप्लेक्स के बाहर पार्किंग की भी पूरा व्यवस्था की गई है। 

नॉर्थ एमसीडी के हॉर्टिकल्चर विभाग के डायरेक्टर आशीष प्रियदर्शी ने बताया कि दिल्ली टूरिज्म को सौंपने से पहले सिलिक एजेंसी से रखरखाव को लेकर काम किया था।  प्रियदर्शी  ने आगे कहा, 'झील का कुल एरिया करीब 6.5 एकड़ है। जिसे कई तरीकों से इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके साथ ही पैडल वोट का इस्तेमाल करके प्राकृतिक रूप से झील की सफाई कर सकते हैं।'

साल 2015 में में स्थानीय आरडब्ल्यूए के विरोध अड़ंगे के बाद एमसीडी ने समझौता रद्द कर दिया था और झील को अपने कब्जे में ले लिया। इसके बाद यहां बोटिंग भी बंद कर दी गई। लेक एरिया एसीडेंट एसोसिएशन  लोकल एमपी हर्ष वर्धमान  के पास गए और उन्होंने डिमांग की कि झील को साफ करके एक बार फिर से बोटिंग शुरु की जाए। आखिरकार केंद्रीय मंत्री हर्ष वर्धमान से इस मामले को संज्ञान में लिया और साल 2019 में यहां पर आएं।  जिसके बाद यहां का प्रस्ताव पारित किया गया। 

प्रस्ताव के मुताबिक, राजस्व साझा करने की शर्त पर इसके विकास की जिम्मेदारी निगम दिल्ली के पर्यटन विभाग को सौंपेगा। इसके चलाने व रखरखाव की जिम्मेदारी दिल्ली पर्यटन एवं परिवहन विकास निगम की होगी। जिसके बाद यहं पर सॉफ्ट एंडवेचर पार्क के तौर पर विकास हुआ और वोटिंग की शुरुआत की गई। 


 

Share this story