UKADD
Thursday, October 21, 2021 at 8:43 PM

किसानों के सब्सिडीयुक्त यूरिया से तरल साबुन बनाने के कारखाने का भंडाफोड़, 540 किलोग्राम खाद बरामद

इंदौर। इंदौर में किसानों को प्रदान किए जाने वाले सब्सिडीयुक्त यूरिया से बर्तन मांजने का तरल साबुन बनाने के कारखाने का बृहस्पतिवार को भंडाफोड़ किया गया और इस औद्योगिक इकाई से 540 किलोग्राम यूरिया बरामद किया गया।

यह खुलासा ऐसे वक्त किया गया, जब प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस रबी सत्र के दौरान सूबे में किसानों के लिए खाद की किल्लत का दावा कर रहा है। हालांकि, राज्य में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी इस दावे को खारिज कर रही है।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि शहर के नावदापंथ इलाके के कारखाने में मारे गए छापे में पता चला कि वहां किसानों के सब्सिडीयुक्त यूरिया के इस्तेमाल से बर्तन मांजने का तरल साबुन बनाया जा रहा था। उन्होंने बताया कि इस छापे में पुलिस के साथ कृषि विभाग के अफसर भी शामिल थे।

कृषि विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि छापे के दौरान कारखाने में सरकारी सब्सिडी वाले नीम लेपित यूरिया की 540 किलोग्राम वजनी खेप का अवैध भंडारण मिला।

उन्होंने बताया कि कारखाने का संचालक बुरहानुद्दीन एक किसान के जरिये सरकारी सब्सिडी वाला यूरिया खरीदता था और इस किसान की तलाश की जा रही है।

अधिकारी ने बताया कि चंदन नगर पुलिस थाने में कारखाने के संचालक के खिलाफ भारतीय दंड विधान और आवश्यक वस्तु अधिनियम के संबद्ध प्रावधानों के तहत मामला दर्ज कराया गया है और इसकी विस्तृत जांच जारी है।