कैमूर:  जीविकोपार्जन को बढ़ावा देने के लिए दस हजार की कार्यशील पूंजी बैंकों द्वारा ब्याज अनुदान के साथ बिना किसी गारंटी के ऋण की सुविधा प्रदान की जा रही है। कैमूर में नप क्षेत्र भभुआ व नपं क्षेत्र मोहनिया में 306 फुटपाथी दुकानदारों इस योजना का लाभ उपलब्ध कराया गया है। इस संबंध में नगर मिशन प्रबंधक राणा तेज प्रताप ने बताया कि इस योजना का लाभ वैसे सभी फुटपाथी विक्रेता को दी जाती है जिनका सर्वेक्षण नहीं हो पाया है। वह संबंधित नगर परिषद या नगर पंचायत से संपर्क कर अपना सर्वेक्षण करा कर बिक्री प्रमाण पत्र प्राप्त कर सकते हैं। सर्वेक्षण एवं विक्रय प्रमाण पत्र के लिए किसी प्रकार का शुल्क व अन्य राशि देय नहीं है। यह पूरी तरह से निशुल्क है। उन्होंने बताया कि वैसे सभी फुटपाथ विक्रेता जिनके द्वारा पूर्व में ऋण हेतु आवेदन दिया गया है वह बैंक पासबुक आधार कार्ड एवं नगर परिषद से निर्गत फुटपाथ विक्रेता का प्रमाण पत्र पहचान पत्र आईडी के साथ निर्धारित तिथि पर बैंक शाखा में जाकर अपने आवेदन का निस्तारण करा सकते हैं। प्रबंधक ने कहा कि जो फुटपाथ विक्रेता नगर परिषद क्षेत्र में अपना सामान बेचते हैं उनको इस योजना का लाभ दिया जाता है। प्रबंधक ने कहा कि वैसे फुटपाथ विक्रेता जिन्होंने अभी तक आवेदन नहीं किया है उनके लिए निशुल्क हेल्पलाइन डेस्क की व्यवस्था की गई है जहां वे आवेदन कर सकते हैं। प्रबंधक ने कहा कि पूर्व में नगर परिषद क्षेत्र के अंतर्गत 419 आवेदन आए थे। इनमें से 124 आवेदनों को बैंकों द्वारा वापस कर दिया गया। 224 आवेदन बैंकों द्वारा स्वीकृत किए गए। जिनमें से 177 फुटपाथी दुकानदारों को दस-दस हजार की राशि उपलब्ध कराई गई है। नगर पंचायत के अंतर्गत 320 दुकानदारों के आवेदन वैध पाए गए थे। जिनमें से बैंकों द्वारा 119 आवेदनों को वापस किया गया। 152 आवेदन स्वीकृत हुए। जिसमें से 129 फुटपाथी दुकानदारों को योजना के तहत राशि उपलब्ध कराई जा चुकी है।