UKADD
Saturday, October 16, 2021 at 4:04 AM

लखनऊ के इस अस्पताल में शुरू हुई माइग्रेन क्लिनिक

महिलाओं में सबसे ज्‍याद होता है माइग्रेन

 

लखनऊ 13 अक्टूबर, 2021: शहर के सर्वश्रेष्ठ अस्पतालों में से एक मेदांता में अब माइग्रेन के मरीजों को इलाज मिल सकेगा। इसके लिए मेदांता में बुधवार को माइग्रेन क्‍लीनिक का उद्घाटन किया गया है। इस क्‍लीनिक में माइग्रेन में होने वाले सिरदर्द का निदान और उपचार किया जाएगा। क्लीनिक का उद्घाटन लखनऊ के एसजीपीजीआई के न्यूरोलॉजी के प्रोफेसर वीके पालीवाल ने किया। माइग्रेन क्‍लीनिक में डॉ प्रदीप कुमार के नेतृत्व में डॉक्टरों की एक विशेष टीम सिरदर्द, विशेष रूप से माइग्रेन से पीड़ित मरीजों का इलाज करेगी।

 

डॉ प्रदीप कुमार ने बताया कि माइग्रेन एक आम न्यूरोलॉजिकल बीमारी है जिसके कई तरह के लक्षण होते हैं जिसमें खासकर सिर के एक तरफ स्पंदन या तेज सिरदर्द होता है। माइग्रेन में शारीरिक गतिविधि, तेज रोशनी, ध्वनियों या गंध की वजह और ज्‍यादा तेज दर्द होने की आशंका भी होती है। माइग्रेन का दर्द कुछ घंटों या कई दिनों तक भी हो सकता है। शोध से पता चला है कि माइग्रेन दुनिया में छठा सबसे ज्‍यादा अक्षम करने वाला रोग है। यह ज्यादातर महिलाओं को प्रभावित करता है।

 

उन्होंने कहा कि “शुरू में माइग्रेन के कुछ एपिसोड होते हैं बाद में ये क्रोनिक में बदल जाता है और इसका लगभग लगातार दर्द उठता रहता है। इस विषय पर डॉ. एके ठक्कर, डॉ. सुधाकर पांडेय और डॉ. रित्विज बिहारी ने भी अपने विचार रखे। मेदांता अस्पताल लगातार लखनऊ के नागरिकों को उच्‍च चिकित्सीय सेवाएं दे रहा है। अस्पताल अल्ट्रा आधुनिक मशीनों और उच्च योग्य विशेषज्ञ चिकित्सक मौजूद हैं।