Saturday, November 27, 2021 at 3:45 AM

अधिक से अधिक संख्या में जीआइसी मैदान पर बच्चों के लिए ज्ञान परोसते नजर आएंगे

 एटा । पिछले वर्षों पुस्तकों के प्रति लोगों के बढ़ते आकर्षण को देखते हुए इस बार देश-विदेश के प्रमुख प्रकाशक ही नहीं, बल्कि बाल साहित्य से जुड़े प्रकाशक भी अधिक से अधिक संख्या में जीआइसी मैदान पर बच्चों के लिए ज्ञान परोसते नजर आएंगे। प्रस्तावित आयोजन को लेकर स्काउट भवन पर समिति की बैठक में तैयारियों पर चर्चा की गई। स्व. ब्रजपाल सिंह यादव की स्मृति में जीआइसी के पुरातन छात्रों द्वारा पुस्तक मेले का आयोजन पांच साल पहले शुरू किया गया। स्थानीय स्तर पर मेले का क्रेज देख अब गन कल्चर को बुक कल्चर बदलने के लिए आयोजन को वृहद स्तर पर करने की फिर तैयारी है।

3, 4 व 5 दिसंबर को मेला आयोजन सुबह 9 से रात 8 बजे तक किया जाएगा। पुस्तक मेला संयोजक एआरएम संजीव कुमार ने बताया कि इस बार मेले में नेशनल बुक ट्रस्ट, राज कमल, वाणी, प्रभात, राधाकृष्ण, भारती ज्ञान पीठ, साहित्य अकादमी, डायमंड, एकलव्य, स्वराज, विज्ञान प्रसार, जन विज्ञान आदि दो दर्जन से ज्यादा प्रकाशकों के आने की स्वीकृति मिल चुकी है। प्रतिदिन शाम को 5 से 8 बजे तक प्रतिरोधी सिनेमा का अनुभव व मनोरंजन भी दर्शकों के लिए खास होगा। उन्होंने बताया कि युवाओं को प्रेरित करने के लिए विभिन्न महापुरुषों की जीवनी व प्रतियोगी परीक्षाओं की पुस्तकें भी उपलब्ध होंगी। मेले का शुभारंभ 3 दिसंबर को डीएम अंकित अग्रवाल करेंगे। दिल्ली पुलिस के अजय चौधरी विशिष्ट अतिथि होंगे। बैठक में तैयारी पर चर्चा व जिम्मेदारी सौंपी गईं। इस दौरान आयोजन समिति के सह संयोजक अनूप दुबे, रजनीश यादव, संजय शर्मा, ज्ञानेंद्र रावत, नरेंद्र सिंह यादव, डा. ललित द्विवेदी, मनीष दुबे, मनोज यादव, राजीव यादव, राजीव वर्मा, दिनेश चौधरी आदि मौजूद थे। यह भी होंगे कार्यक्रम पुस्तक मेला में 3 दिसंबर को दिव्यांग सम्मेलन, 4 को प्रतियोगी परीक्षा मार्गदर्शन तथा पर्यावरण गोष्ठी के अलावा 5 दिसंबर को गंगा जमुनी तहजीब पर आधारित सम्मेलन हो दोपहर 12 बजे से होगा।