Saturday, November 27, 2021 at 3:50 AM

नगर निगम के जीवाराम हॉल में नगर आयुक्त ने की ठेकेदारों संग मीटिंग

कार्य शुभारंभ के समय लोगों को नाश्ता और धनराशि देने के लिए निगम कोई पैसा नहीं देता –नगर आयुक्त

फिरोजाबाद नगर निगम आयुक्त प्रेरणा शर्मा ने शुक्रवार को कहां है, विकास कार्य शुभारंभ के समय लोगों को दी जाने वाली धनराशि और चाय नाश्ता के लिए कोई पैसा निगम द्वारा नहीं दिया जाता है ।नगर आयुक्त ठेकेदारों की बैठक के बाद पत्रकारों द्वारा पूछे गए प्रश्नों का उत्तर दे रही थी ,

नगर निगम क्षेत्र में विकास कार्य कराये जाने की दृष्टि से टेंडर आमंत्रित किए गये थे , ठेकेदारों द्वारा 180  टेंडर डाले गये जब डाले गये टेंडरों को खोला गया तो सभी 180 टेंडर खाली थे ,जिसको लेकर हर कोई हतप्रभ था ।ठेकेदारों का आरोप था कि उनसे सुविधा शुल्क लेने के बाद टेंडर दिये जाते हैं ,ना देने पर उनसे कार्य नहीं कराया जाता यदि कार्य मिल भी जाये तो उनके कार्य में कमियां  बता दी जाती है ।क्योंकि सुविधा शुल्क नहीं दिया है , नगर आयुक्त प्रेरणा शर्मा ने शुक्रवार को ठेकेदारों की एक बैठक नगर निगम के जीवाराम हॉल में बुलाई थी बैठक में उन्होंने निर्देश दिया था कि वह शासनादेश के तहत कार्य करें यदि कोई शिकायत है, तो उनसे करें वह जांच करा कर कार्यवाही करेगी । आरोप लगाने से कोई कार्य नहीं बनने वाला उन्होंने यह भी स्पष्ट किया यदि फिर भी ठेकेदार कार्य नहीं करते हैं , तो आगरा लखनऊ के ठेकेदारों को बुलाकर टेंडर उठाये जायेंगे बैठक के बाद पत्रकारों ने नगर आयुक्त से जब यह प्रश्न पूछा विकास कार्य कराने के समय भूमि पूजन एवं उद्घाटन के अवसर पर लोगों को पैसे वितरित किये जाते हैं ।तथा अच्छा खासा नाश्ता कराया जाता है ,यह धनराशि कहां से आती है,और कौन खर्च करता है इस प्रश्न के उत्तर में नगर आयुक्त ने कहा कि निगम द्वारा कोई धनराशि नहीं दी जाती है । जब उनसे प्रश्न किया गया एक ठेकेदार ने कार्य शुभारंभ के अवसर पर ₹16000 वसूले जाने की बात कही और यह भी बताया ठेकेदार का वीडियो उनके पास है। तो इस संबंध में नगर आयुक्त ने बताया ठेकेदार शिकायत क रे तो जांच करा कर उनके खिलाफ कार्रवाई की जायेगी गौरतलब है , विकास कार्य के समय लोगों को दी जाने वाली धनराशि तथा नाश्ते पर खर्च होने वाला पैसा आखिर आता कहां से है ,इस पर सवालिया निशान लगने के साथ यह प्रश्न जांच का विषय बन कर रह गया है। कुछ ठेकेदारों यह भी बताया गया कि एकाउन्ट विभाग में भी भुगतान के लिये वहाँ पर तैनात कर्मचारी भी समय से भुगतान करने में आनाकानी करते है ।
रबीन्द्र वर्मा
दैनिक तरुण मित्र
फिरोजाबाद