UKADD
Saturday, October 16, 2021 at 6:10 AM

नाबार्ड की कार्यशाला सम्पन्न

राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक नाबार्ड की ओर से शहर के एक होटल में जिला स्तरीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य भारत सरकार व राज्य सरकार द्वारा अनुदान आधारित रोजगारपरक योजनाओं का व्यापक प्रचार-प्रसार करके बैंकों के माध्यम से अनुदान आधारित कार्यक्रमों को गति प्रदान करना था। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि के स्वागत के साथ हुआ। जिला विकास प्रबंधक प्रसून सुनार ने एग्री क्लीनिक व एग्री बिजनेस के बारे में विस्तार से संवाद आधारित चर्चा की जिससे रोजगार कृषि स्नातकों को कृषि आधारित कार्यों को करके आत्मनिर्भर बनाया जा सके। कार्यक्रम में जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक बी.एस राणा ने ऋण सहायता के बारे में बताते हुए कहा कि बैंक द्वारा ऋण सहायता एक करोड़ तक की है जिसमें नाबार्ड के द्वारा 36 से 44 प्रतिशत तक अनुदान अनुमन्य है। एग्री क्लीनिक एवं एग्री बिजनेस केंद्र के बारे में मुरादाबाद से आए दीपक मेहंदी दत्ता ने 45 दिनी प्रशिक्षण के बारे में विस्तार पूर्वक चर्चा की। श्री दत्ता ने बैंकों से कर्ज लेने की सरलता एवं अपने संस्थान के बारे में अनुभव साझा किए। ए.के. जैन क्षेत्रीय प्रबंधक आर्यावर्त ग्रामीण बैंक ने अपने उद्बोधन में कहा कोई भी स्नातक बेरोजगार को हमारी किसी भी शाखा से दिक्कत आ रही हो तो हमसे व्यक्तिगत संपर्क करें हम आपकी सहायता करेंगे। महाप्रबंधक जिला सहकारी बैंक नाबार्ड द्वारा संचालित योजनाओं के बारे में जानकारी हासिल की। इस अवसर पर विभिन्न बैंकों के प्रतिनिधि जिसमें पंजाब नेशनल बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, यूनियन बैंक, इंडियन बैंक, भारतीय स्टेट बैंक तथा सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि के रूप में ग्राम सुधार समिति के सचिव जनार्दन बाबू मिश्र, विनोद कुमार मौर्य का सहयोग रहा। धन्यवाद ज्ञापन डीडीएम नाबार्ड द्वारा किया गया।