UKADD
Thursday, October 21, 2021 at 9:02 PM

अपने पूर्व में कहे गए अपशब्दों के लिए माफी मांग ले तो मैं सब कुछ भूलनें को तैयार हूं-राजवर्धन

नई दिल्ली।राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष राजवर्धन सिंह परमार ने कहा है कि यदि हमारी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव एल्विस जोसेफ अपने पूर्व में कहे गए अपशब्दों के लिए माफी मांग ले तो मैं सब कुछ भूलनें को तैयार हूं।

अपने आवास पर आयोजित एक पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए राजवर्धन सिंह परमार ने आगे कहा कि हिंदू संस्कृति में हम अपने त्योहारों पर पुराने गिले-शिकवे भूलकर नई राह देखते हैं इसी परंपरा को आगे बढ़ाते हुए मैं एल्विस जोसेफ अपना बड़ा भाई मानते हुए यह पुनः कह रहा हूं कि यदि अल्वेस जोसेफ जिन्होंने मुझे अपशब्द कहे थे और गाली दिया थे यदि उन अपशब्दों और गाली के लिए वह माफी मांग ले तो मैं अपने सारे विवाद सारे गिले शिकवे को भूलने को तैयार हूं।

राजवर्धन सिंह परमार ने आगे कहा कि यद्यपि एल्विस जोसेफ से मेरा जो पैसे का लेन देन का मेरा आरोप है मैं उस पर कायम हूं परंतु इस लेनदेन से न पार्टी से कोई मतलब है नहीं हमारे संगठन से, यह लेनदेन मेरा व्यक्तिगत है एलवे जोसेफ मेरे बड़े भाई जैसे हैं हम इस विवाद को आपस में बैठकर सुलझा लेंगे। इन त्योहारों पर मैंने अपनी परंपरा के अनुसार विवाद को सुलझाने के लिए पहला कदम चल दिया है और मैं सब कुछ भूलने को तैयार हूं अब बारी एलविस जोसेफ की है अगर वह भी विवाद को सुलझाना चाहते हैं तो अपने अपशब्दों के लिए मुझसे माफी मांग ले, मैं सारे विवाद के समाधान को तैयार हूं।

इस पत्रकार वार्ता में राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी के वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ रविंद्र सिंह ने कहा कि आने वाले समय में दिल्ली में नगर निगम के चुनाव होने हैं हम अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष व केंद्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस जी और अपने प्रदेश अध्यक्ष राजवर्धन सिंह परमार जी के आदेशानुसार पूरे दिल्ली में काम करेंगे। पार्टी की नीतियों को जन-जन तक पहुंचाएंगे लोगों की सेवा कर उन्हें पार्टी से जोड़ेंगे।

पत्रकार वार्ता के अंत में राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष राजवर्धन सिंह परमार और वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ रविंद्र सिंह ने दिल्ली की जनता को नवरात्रि और दशहरे की शुभकामनाएं दी।

ज्ञातव्य हो कि कुछ दिनों पूर्व राज्यवर्धन सिंह परमार ने अपनी ही पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव एल्विस जोसेफ पर दस लाख रुपये की रिश्वत लेने और जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया था।