UKADD
Saturday, October 16, 2021 at 1:09 AM

राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव ने किए ठाकुर बांकेबिहारी के दर्शन

मथुरा। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के मुख्यिा मंगलवार को मथुरा में आस्था में सराबोर नजर आए। ने 101 शंख धुनों के साथ चुनावी शंखनाद किया है। समाजवादी पार्टी से टूट कर अलग होकर राजनीतिक दल खडा करने में जुटे प्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल यादव ने विधान सभा चुनाव 2022 के अभियान की शुरूआत के लिए मथुरा की धरती को चुना। मंगलवार को प्रसपा प्रमुख ने ठाकुर बांकेबिहारी भगवान का आशीर्वाद लिया और सामाजिक परिवर्तन रथ से प्रदेश की जनता को जागरूक करने निकलेंगे।
प्रसपा प्रमुख ने इसे प्रदेश की वर्तमान भाजपा सरकार के खिलाफ अभियान बताया है। ठाकुर बांकेबिहारी मन्दिर में पूजा अर्चना के उपरांत श्री यादव सामाजिक परिवर्तन रथ पर सवार होने के लिए निकले। श्री बांकेबिहारी मंदिर के द्वार पर एक सौ एक ब्राह्मणों ने शंखनाद कर शिवपाल यादव को आशीर्वाद दिया। सपा के साथ गंठबंधन के सवाल पर उन्होंने कहाकि इसके लिए कोई अंतिम तिथि नहीं होती है। राजनीति में गठबंधन की संभावनाएं बनी रहती हैं। सूबे की भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रदेश में गुंडों का और माफियाओं का राज है, किसानों पर अत्याचार हो रहा है।
उन्होंने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार पूरी तरह फेल हो चुकी है। चाहे कानून व्यवस्था हो या बेरोजगारी हर मुद्दे पर सरकार की नाकामी सामने आ रही है। लखीमपुर खीरी में किसानों को भाजपा के गृह राज्य मंत्री के बेटे ने गाड़ी से कुचल दिया। इसीलिए अब समय आ गया है कि इस सरकार को उखाड़ फेंका जाए।
हालांकि शिवपाल सिंह यादव ने कांग्रेस के साथ गठबंधन के सवाल पर दो टूक कोई बात नहीं की। कांग्रेस के साथ गठबंधन की चर्चा इसके तब शुरू हुई जब राजनेता और संत प्रमोद कृष्णन भी शिवपाल सिंह यादव से मिलने के लिए पहुंचे।

भगवा झंडे को लहरा कर किया परिवर्तन यात्रा का शुभारंभ
मथुरा में शिवपाल यादव पूरी तरह से भगवा रंग में रंगे नजर आए। संत प्रमोद कृष्णन के साथ उन्होंने परिवर्तन यात्रा का शुभारंभ भगवान झंडे को लहरा कर किया। ठाकुर जी की नगरी से प्रसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष का इस तरह चुनावी शंखनाद दूसरे दलों में भी कौतुहल पैदा कर रहा है।