Main

Today's Paper

Today's Paper

मां का सपना पूरा करने को हेलिकॉप्टर में लेकर आया दुल्हन

DULHAN

पानीपत का युवक बिन दहेज की शादी में दुल्हन को हेलीकॉप्टर से घर लेकर आया है. हालांकि, खराब मौसम के कारण दुल्हन की लैंडिंग एक दिन लेट हो गई.
जो लोग बेटे और बेटियों में फर्क समझते हैं और बेटियों को कोख में ही मार देते हैं, ऐसे लोगों को पानीपत का मुनीष सैनी ने आइना दिखाया है. मुनीष ने जींद के नरवाना निवासी मोनिका सैनी के साथ शादी करके उसे उसके ससुराल यानी पानीपत हेलिकॉप्टर में लेकर आया.

शादी में एक खास बात और नजर आई मुनीष सैनी की शादी बिना दहेज के हुई. मुनीष सैनी के पिता पूर्व पार्षद रामकुमार सैनी ने बताया कि उनके तीन बेटे और एक बेटी है. बड़े दो बेटों की शादी में भी उन्होंने दहेज नहीं लिया था और न ही अपनी बेटी की शादी में दहेज दिया था.
समाज को आइना दिखाने के लिए मेरी पत्नी का सपना था कि उसका छोटा बेटा बहू को हेलिकॉप्टर में लेकर आए, जिसको मेरे बेटे मुनीष सैनी ने पूरा किया. हम समाज के अपील करते है कि बेटों ओर बेटियों में फर्क न समझें. दोनों एक समान है और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के सपने को पूरा करे.
बता दें कि पानीपत के पूर्व पार्षद रामकुमार सैनी के सबसे छोटे बेटे और मौजूद पार्षद कोमल सैनी के देवर मुनीष सैनी की शादी नरवाना में मोनिका सैनी पुत्री जयभगवान सैनी से हुई. मुनीष की मां रामकली सैनी की ख्वाहिश थी कि उनका सबसे छोटा बेटा मुनीष दुल्हन को हेलीकॉप्टर में लेकर आए.

मां की ख्वाहिश पूरा करने के लिए मुनीष ने दिल्ली में कंपनी से संपर्क कर हेलिकॉप्टर बुक किया और हेलिकॉप्टर से दुल्हन लाने का फैसला किया. सेक्टर 24 में बने हेलीपेड पर हेलिकॉप्टर को देखने के लिए सैकड़ो की तादाद में लोग इकट्ठा हो गए.

इसके साथ ही सैनी परिवार ने समाज मे बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान को मजबूत करते हुए शादी में शगुन में सिर्फ एक रुपया लेकर बिना दहेज लिये शादी कर समाज में उदाहरण प्रस्तुत किया, ताकि कोई भी अपनी बेटियो को बोझ न समझे. इस अनोखी पहल की सभी ओर चर्चा हो रही है.

Share this story