Main

Today's Paper

Today's Paper

मई में होने वाली परीक्षाओ को रोकने  के लिए केंद्र सरकार ने संस्थाओ को लिखा पत्र 

kerona

नई दिल्ली : देश में कोरोना मरीजों की संख्या में बेतहाशा बढ़ोतरी को देखते हुए भारत सरकार के उच्च शिक्षा सचिव अमित खरे ने सभी केंद्रीय संस्थानों को पत्र लिखकर कहा है कि मई महीने में होने प्रस्तावित सभी ऑफलाइन परीक्षाओं को स्थगित किया जाए।

खरे ने केंद्र सरकार से आर्थिक सहायता प्राप्त करने वाले संस्थनों के कुलपतियों और डायरेक्टर्स को लिखा,  "मौजूदा हालात में यह बहुत महत्वपूर्ण है कि किसी को भी आपके संस्थान में मदद की दरकार तो उसे (छात्र/छात्रा) को हर संभव मदद उपलब्ध कराई जानी चाहिए जिससे कि जल्द से जल्द तनाव से बाहर निकल सके। यह भी जरूरी है कि वैक्सीन के लिए योग्य व्यक्तियों को टीका लगवाने को प्रोत्साहित किया जाए और सभी लोग कोविड-19 नियमों को पालन करते हुए सुरक्षित रहें।"

चूंकि 1 मई से 18 वर्ष से ऊपर के नागरिकों के लिए वैक्सीनिशेन अभियान शुरू हो चुका है ऐसे में खरे ने संस्थान प्रमुखों से अपील की कि वे छात्रों को टीकारण अभियान में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करें। मौजूदा हालातों को देखते हुए संस्थानों से कहा गया है कि वे ऑनलाइन कक्षाएं जारी रखें। जून 2021 में स्थिति की समीक्षा करने के बाद ही आगे का फैसला लिया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि कई परीक्षाएं जैसे जेईई, एनईईटी और आईसीएआई व एसएससी, यूपीएससी की प्रतियोगी परीक्षाएं भारत में बढ़ते कोरोना मामलों के कारण स्थगित कर दी गई हैं। वर्तमान में कोरोना के एक्टिव केस 341,3642 हो गए हैं और अब तक कुल 218959 लोगों की मृत्यु हो चुकी है।

Share this story