Main

Today's Paper

Today's Paper

जबरन निकाह, धर्म-परिवर्तन और फिर धोखा

nikah

जयपुर. जयपुर की एक महिला के शोषण और प्रताड़ना की दर्दनाक कहानी सामने आई है. 2009 में पीड़िता की शादी हुई थी. वह जयपुर में पति के साथ रह रही थी. एक बेटा और बेटी की इस मां के साथ पति मारपीट करता था. इस बीच पड़ोस में रहनेवाला शाहिद काम दिलाने का वादा कर 2016 में पीड़िता व उसके बेटे को कश्मीर ले गया. वहां उसने बेटे को मारने की धमकी देकर महिला से बलात्कार किया. कुछ दिन बाद उसने महिला से जबरन निकाह किया और धर्म परिवर्तन कराया. निकाह के बाद बेटी पैदा हुई तो शाहिद महिला को छोड़कर भाग गया. जब पीड़िता जयपुर के पुलिस थाने पहुंची तो वहां उसका केस दर्ज नहीं किया गय

तब पीड़िता कोर्ट पहुंची और फिर कोर्ट के आदेश पर पीड़िता का केस दर्ज हुआ है. आज सोमवार को महिला का मेडिकल कराया गया है. केस दर्ज करने से इनकार करने के आरोपी एसएचओ को लाइन हाजिर कर दिया गया है.

प्रतापनगर थाना के जांच अधिकारी कैलाश मीणा ने बताया कि पीड़िता की रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है. पीड़िता ने रिपोर्ट में आरोप लगाया कि उसके बेटे को जान से मारने की धमकी देकर आरोपी ने उसके बाद बलात्कार किया. कुछ वक्त कश्मीर में रखने के बाद दिल्ली और फिर भरतपुर लाया. भरतपुर में धर्म परिवर्तन कराकर निकाह कर लिया और नाम बदल कर सोनम कर दिया. बेटे का नाम भी सरफराज रख दिया. फिर 2017 में उसे जयपुर लाया. एक बच्ची पैदा की और फिर छोड़कर भाग गया. तब से पीड़िता जयपुर में भटक रही थी.

महिला का आरोप है कि डेढ़ साल पहले भी वह पुलिस के पास शिकायत कराने पहुंची थी, तब भी उसकी शिकायत दर्ज नहीं की गई. हालांकि पुलिस का कहना है कि तब शाहिद के साथ राजीनामा हो गया था. कुछ दिन से वह केस दर्ज कराने के लिए पुलिस के चक्कर लगा रही थी, लेकिन दर्ज नहीं किया जा रहा था. राज्य सरकार ने इस पर प्रतापनगर थानाधिकारी को लाइन हाजिर कर दिया है.
 

Share this story