Main

Today's Paper

Today's Paper

अगले हफ्ते तक मुम्बई में भारी वारिस का  अंदेसा,ऊँची लहरे उठाने का खतरा 

varish
मुंबई. गुरुवार को मुंबई और उसके आसपास के इलाकों से डराने वाली तस्वीरें सामने आई. दक्षिण-पश्चिम मानसून  के दस्तक देते ही पूरा मुंबई पानी-पानी हो गया. मौसम विभाग ने आने वाले हफ्तों में और भी बारिश की चेतावनी दी है. विभाग ने मुंबई, पड़ोसी जिलों ठाणे, पालघर और रायगढ़ जिलों के लिए ‘रेड अलर्ट’ जारी करते हुए भारी से बहुत भारी बारिश की चेतावनी दी है. इसके अलावा मुंबई में हाई टाइड की भी चेतावनी दी गई है.
इस बार मुंबई में दक्षिण-पश्चिम मानसून समय से दो दिन पहले आ गया. पिछले साल यहां मॉनसून ने 14 जून को दस्तक दी थी. बारिश ने मुंबई का किस तरह हाल बेहाल किया इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि गुरुवार को सुबह 8:30 बजे से शाम 5:30 बजे के बीच 221 मिली लीटर बारिश हुई. मुंबई में जून के महीने में अब वतक 426 मिली लीटर बारिश हुई है. जबकि आमतौर पर यहां 89 MM बारिश होती है.
स्काईमेट वेदर के मुताबिक 11 से 15 जून के बीच मुंबई और यहां के उपनगरों में भारी से बहुत भारी बारिश होने की आशंका है. मुंबई, नवी मुंबई, ठाणे, कल्याण, पालघर और अलीबाग में बाढ़ का खतरा है. इस दौरान सिंधुदुर्ग, रायगढ़, महाबलेश्वर और रत्नागिरी सहित कोंकण के अन्य इलाकों में भी अत्यधिक भारी बारिश की संभावना है. यहां भारी बारिश की दो वजह है. पहला अरब सागर के पूर्व-मध्य और उत्तर की तरफ बना साइक्लोनिक सर्कुलेशन. इसके अलावा बंगाल की खाड़ी में भी एक कम दबाव के क्षेत्र बनने से मुंबई में बारिश की गतिविधियां बढ़ गई है.
कहा जा रहा है कि इस बार मॉनसून के दौरान 18 दिन हाई टाइड आने की संभावना है. इस दौरान समुद्र में लहरों की ऊंचाई 10 मीटर तक जा सकती है. इनमें 6 दिन तो सिर्फ जून महीने में ही है हाई टाइड का खतरा है. इस बीच भारी बारिश के कारण मुंबई के कई हिस्सों में पानी भर गया और इसके कारण यातायात पुलिस को चार सबवे बंद करने पड़े वहीं कई चालकों को अपने वाहन सड़कों पर छोड़ने के लिए मजबूर होना पड़ा. लोकल ट्रेन सेवाएं भी बाधित हुयीं जो केवल स्वास्थ्य और अन्य आवश्यक सेवाओं में लगे कर्मियों के लिए चल रही हैं.

Share this story