Main

Today's Paper

Today's Paper

 राज्य सभा के डिप्टी लीडर बने मुख्तार अब्बास नकवी

mukhtar

नई दिल्ली. केंद्रीय कैबिनेट मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता मुख़्तार अब्बास नक़वी  को राज्य सभा का डिप्टी लीडर नियुक्त गया हैं. नकवी संसदीय मामलों पर अच्छी पकड़ रखते हैं. साथ ही वो अगल-अलग राजनीतिक दलों के साथ अच्छे सबंधों और समन्वय के लिए भी जाने जाते हैं. संसद में विपक्ष की विभिन्न चुनौतियों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा नक़वी को यह जिम्मेदारी देना बेहद महत्वपूर्ण है.

इससे पूर्व डिप्टी लीडर की जिम्मेदारी पीयूष गोयल के पास थी, जो इस समय राज्य सभा में लीडर नियुक्त किये गये हैं. मुख़्तार अब्बास नकवी, मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में संसदीय कार्य राज्य मंत्री के तौर पर सदन में प्रभावी भूमिका निभा चुके हैं.


मुख्तार अब्बास नकवी साल 2016 में राज्यसभा के लिए चुने गए थे. वह 26 मई 2014 को नरेंद्र मोदी मंत्रालय में अल्पसंख्यक मामलों और संसदीय मामलों के राज्य मंत्री बने. 12 जुलाई 2016 को नजमा हेपतुल्ला के इस्तीफे के बाद, उन्हें अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय का स्वतंत्र प्रभार मिला. उन्होंने 30 मई 2019 को नरेंद्र मोदी की कैबिनेट में मंत्री के रूप में शपथ ली और अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय के साथ बने रहे.

नकवी ने 1980 में जनता पार्टी (सेक्युलर) के उम्मीदवार के रूप में उत्तर प्रदेश की विधान सभा के लिए चुनाव लड़ा और असफल रहे. उन्होंने 1980 के लोकसभा चुनाव में अयोध्या निर्वाचन क्षेत्र से एक स्वतंत्र उम्मीदवार के रूप में भी चुनाव लड़ा. वह 1998 में लोकसभा के लिए चुने गए, और बाद में उन्हें अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में सूचना और प्रसारण मंत्रालय में राज्य मंत्री का पद दिया गया.
 

Share this story