Main

Today's Paper

Today's Paper

ऑक्सीजन संकट सरकार की कमी से- PM मोदी को रवीश कुमार ने सुनाई खरी-खरी

Gas Oxigen
 नई दिल्ली। कोरोना की दूसरी लहर में देश के तमाम शहरों से ऑक्सीजन संकट की खबरें सामने आईं। ऑक्सीजन की कमी से मरीजों के दम तोड़ने की बात भी कही गई। इसी बीच अब एनडीटीवी से जुड़े वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार ने ऑक्सीजन संकट के लिए पीएम मोदी और केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए खरी-खोटी सुनाई है।

अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर एक पोस्ट में रवीश कुमार ने लिखा कि ऑक्सीजन संकट सरकार की ऐतिहासिक और अकल्पनीय लापरवाही से हुआ। उन्होंने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए लिखा ‘जिनके अपने इस वजह से तड़प कर मर गए क्योंकि अस्पताल में आक्सीजन नहीं था, उनके पास राष्ट्र के नाम संदेश देने का मंच नहीं है। वरना उन्हें मंच मिलता तो आज टीवी चैनलों के ज़रिए राष्ट्र जानता कि मोदी सरकार की लापरवाही के कारण कितने घरों का चिराग़ बुझ गया।

अब आंकड़ों पर लड़ाई: 
केंद्र ने कहा- 33.95 के साथ कोरोना टीका बर्बाद करने में झारखंड सबसे आगे, राज्य बोला- 4.65%कुमार ने आगे लिखा, ‘आईटी सेल लगाकर, कमेंट बाक्स में अनाप-शनाप लिखवा कर दो रुपये कमाए जा सकते हैं लेकिन जो बता रहा हूँ वो अकल्पनीय नहीं है, अकाट्य है। बाक़ी आपकी मर्ज़ी।’रवीश कुमार ने लिखा, ‘हमने कोविड की दूसरी लहर में सरकारी लापरवाही से हुए नरसंहार पर 22 एपिसोड किए हैं। 

इन्हें देखने में आपको मज़ा नहीं आएगा लेकिन समझने का मौक़ा मिलेगा। देख सकेंगे कि कैसे सामने से गर्दन दबा कर भाषण की माला पहनाई जा रही है।’आपको बता दें कि इससे पहले रवीश कुमार ने प्रधानमंत्री के राष्ट्र के नाम संदेश पर भी तंज कसते हुए कहा था कि उनका यह भाषण व्हाट्सएप यूनिवर्सिटी के सिलेबस से निकला हुआ है।उन्होंने लिखा था कि प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्र के नाम संदेश में जिन संदर्भों को लेकर माहौल बनाया था उनका झूठ फैलाने की केंद्रीय व्यवस्था से गजब का मेल बन जाता है। कोरोना संकट के बीच एक बॉलीवुड एक्टर गरीबों की हालात देख कर सरकार पर भड़कते नजर आए। ऐसे में चुटकी लेते हुए उन्होंने अपने पोस्ट में कहा कि इस महामारी से गरीब सबसे ज्यादा प्रभावित हो रहे हैं।

Share this story