Main

Today's Paper

Today's Paper

Tarunmitra Banner

महाराष्ट्र में भयावह हुआ कोरोना पांच मिनट में ले रहाएक जान ,एक दिन में पचपन हजार के पार 

मुंबई :महाराष्ट्र में कोरोना वायरस का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। पिछले कुछ दिनों के भीतर वीकेंड लॉकडाउन, नाइट कर्फ्यू समेत कई अहम पाबंदियों को लगाए जाने के बावजूद भी राज्य में कोरोना के नए मामलों की गति में कोई कमी नहीं आ रही है। राज्य में एक बार फिर से 55 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं, जबकि 24 घंटे में 297 लोगों की मौत हो गई है। इस लिहाज से देखें तो हर 5 मिनट में एक कोरोना मरीज ने जान गंवाई है। 

राज्य के स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार, महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे में 55,469 नए कोरोना के मामले मिले हैं। इसके साथ ही 297 और लोगों की जान चली गई है, जबकि इसी दौरान 34,256 लोग ठीक हो गए हैं।

महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में पिछले 24 घंटे में 10,030 नए मामले मिले हैं, जबकि 31 लोगों की जान चली गई। शहर में कुल संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 4,72,332 हो गया है। वहीं, मुंबई में कोविड-19 के मामलों के तेज गति से बढ़ने के मद्देनजर बीएमसी ने पांच से अधिक संक्रमित मरीजों वाले किसी भी हाउसिंग सोसाइटी को सील करने का फैसला किया है। बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) सोमवार को कुछ नई मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी की।

इसके अलावा, मुंबई में 30 अप्रैल तक सभी बीच (समुद्र तट) को भी बंद रखने का फैसला लिया गया है। बीएमसी आयुक्त इकबाल सिंह चहल ने इस बारे में आदेश जारी कर सभी निगम आयुक्तों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि सभी बीच इस महीने बंद रखे जाएं।


वहीं, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बीते दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रह किया था कि 25 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगों को कोविड-19 रोधी टीका लगवाने की इजाज़त दी जाए। मोदी को लिखी चिट्ठी में ठाकरे ने यह भी मांग की कि महाराष्ट्र को टीके की 1.5 करोड़ अतिरिक्त खुराकें उपलब्ध कराई जाएं जो राज्य सरकार को छह जिलों -- मुंबई, पुणे, ठाणे नासिक, औरंगाबाद और नागपुर में 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों का टीकाकरण तीन सप्ताह के भीतर पूरा करने में सक्षम करेगा जहां कोरोना वायरस संक्रमण के अधिक मामले आ रहे हैं।

महाराष्ट्र सरकार ने कोविड-19 के मामले बढ़ने के मद्देनजर रविवार को नई पाबंदियों की घोषणा करते हुए कहा था कि सभी बीच, बगीचे और सार्वजनिक स्थल सप्ताह के शुरुआती पांच दिन रात आठ बजे से सुबह सात बजे तक और शुक्रवार रात आठ बजे से लेकर सोमवार सुबह सात बजे तक बंद रहेंगे। वहीं, राज्य में वीकेंड लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू भी लगाने का फैसला लिया गया है।

Share this story