Main

Today's Paper

Today's Paper

 ऋषिकेश में मौसम के अपने  मिजाज 

KUMAR

देहरादून:विश्वास ऋषिकेश में उमड़ते-घुमड़ते बादलों को देख आनंदित हो गए और उनसे रहा नहीं गया। उन्होंने बादलों को घिरते देखा है, बिहार के एक कवि की काव्य रचना का गायन शुरू कर दिया। कवि कुमार विश्वास बीते रोज तपोवन स्थित एक होटल में ठहरे थे। वह दो दिन पहले भ्रमण के लिए ऋषिकेश पहुंचे थे। मंगलवार सुबह वह यहां से वापस लौटे। मंगलवार सुबह गंगातट के सामने मणिकूट पर्वत पर बादलों की आवाजाही ने उन्हें भाव विभोर कर दिया।


उन्होंने मौसम के बदले मिजाज पर एक खूबसूरत और शानदार कविता का पाठ किया। ‘अमल धवल गिरि के शिखरों पर, बादल को घिरते देखा है’ कविता के गायन का वीडियो उन्होंने सोशल मीडिया पर भी डाला है। कहा कि भारत में मानसून की झमाझम बारिश हो रही है। इससे मौसम सुहावना हो गया है। मन आनंदित हो रहा है।

Share this story