परमाणु हथियारों के परीक्षण की तैयारी में उत्तर कोरिया

सियोल। उत्तर कोरिया ने गुरुवार को अमेरिका पर शत्रुता और धमकी देने का आरोप लगाते हुए इस बात के संकेत दिए। उसने कहा कि वह अस्थायी रूप से रुकी अपनी उन सभी गतिविधियों पर काम शुरू करेगा, जिसपर उसने ट्रंप प्रशासन के साथ हुई बातचीत के बाद विराम लगा दिया था।

जिसमें अधिकारियों ने अमेरिका की शत्रुता, चालबाजियों का मुकाबला करने के लिए उत्तर कोरिया की सैन्य क्षमताओं को मजबूत बनाने के मकसद से नीतिगत लक्ष्य निर्धारित किए और अस्थायी रूप से निलंबित सभी गतिविधियों को फिर से शुरू करने संबंधी मसलों पर मंथन करने के निर्देश दिए।

तेज की हथियारों के प्रदर्शन की कवायद
उत्तर कोरिया ने हाल में अपने हथियारों के प्रदर्शन की कवायद को तेज किया है। उसने एक महीने में चार मिसाइलों का परीक्षण किया है। इसका मकसद, अमेरिका के साथ लंबे समय से रुकी हुई परमाणु कूटनीति को लेकर वाशिंगटन पर दबाव बनाना हो सकता है। मिसाइल परीक्षण के बाद पिछले सप्ताह बाइडन प्रशासन ने उसपर नई पाबंदियां लगा दीं थीं, जिसके बाद उत्तर कोरिया के विदेश मंत्रालय ने कड़ी कार्रवाई करने की चेतावनी दी थी। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने उत्तर कोरिया और परमाणु निरस्त्रीकरण के मामलों पर चर्चा के लिए बृहस्पतिवार को एक बैठक बुलाई है।

इस माह चौथी बार मिसाइलों का किया प्रक्षेपण
दक्षिण कोरिया की सेना ने कहा कि उत्तर कोरिया ने सोमवार को दो संदिग्ध बैलिस्टिक मिसाइलें समुद्र में दागीं। इस महीने उसके द्वारा किया गया यह चौथा प्रक्षेपण है। अमेरिका के साथ ठप पड़े कूटनीति संबंधों और वैश्विक महामारी के मद्देनजर सीमा बंद होने के बीच उत्तर कोरिया का एक मात्र लक्ष्य अपनी सेना की ताकत प्रदर्शित करना है।

See also  संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने भारत पाकिस्तान के बीच संघर्षविराम पर संयुक्त बयान का किया स्वागत

दक्षिण कोरिया के ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ ने कहा कि उत्तर कोरिया ने दो कम दूरी वाली बैलिस्टिक मिसाइलें सुनान में एक स्थान से दागीं, लेकिन मिसाइल कितनी दूर जाकर गिरी इसकी तत्काल कोई जानकारी नहीं दी। सुनान में प्योंगयांग का अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा है।