UKADD
Saturday, October 16, 2021 at 11:53 AM

इनकम टैक्स पोर्टल में लगातार हो रहा है सुधार

नई दिल्ली. इनकम टैक्स रिटर्न के नए पोर्टल में तकनीकी खामियों के कारण आलोचना झेलने वाली देश की प्रमुख सॉफ्टवेयर सर्विस कंपनी इंफोसिस के एमडी और सीईओ सलिल पारेख ने बुधवार को कहा कि उनकी कंपनी द्वारा विकसित नए पोर्टल में लगातार सुधार हो रहा है. उन्होंने कहा कि उस पर 1.9 करोड़ रिटर्न दाखिल किए जा चुके हैं.

उन्होंने आगे कहा कि टैक्सपेयर्स की चिंताओं को लगातार दूर किया जा रहा है. पारेख ने दूसरी तिमाही के लिए कंपनी के नतीजों की घोषणा के बाद कहा, ”हम इनकम टैक्स सिस्टम में निरंतर सुधार देख रहे हैं. कल तक हमारे पास 1.9 करोड़ से अधिक रिटर्न थे जो नई सिस्टम का उपयोग करके दाखिल किए गए हैं. आज इनकम टैक्स रिटर्न फॉर्म 1 से 7 सभी काम कर रहे हैं. अधिकांश वैधानिक फॉर्म सिस्टम पर उपलब्ध है.”

हालांकि, उन्होंने यह नहीं बताया कि ये तकनीकी गड़बड़ियां कब तक पूरी तरह से दूर हो जाएंगी और पोर्टल पर सभी सुविधाएं कर रिटर्न फाइल करने वालों के लिए उपलब्ध होंगी. पारेख ने बताया कि 3.8 करोड़ यूजर्स ने विभिन्न लेनदेन पूरे किए हैं और हर दिन 2-3 लाख रिटर्न दाखिल किए जा रहे हैं.

इंफोसिस को 2019 में अगली पीढ़ी की इनकम टैक्स दाखिल करने की प्रणाली विकसित करने का ठेका दिया गया था. इसके पीछे उद्देश्य रिटर्न के जांच के समय को 63 दिन से घटाकर एक दिन करना और रिफंड की प्रक्रिया को तेज करना था.

गत 7 जून को काफी जोरशोर से नए इनकम टैक्स पोर्टल डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू.इनकमटैक्स.जीओवी.इन (www.incometax.gov.in) की शुरुआत की गई थी. इंफोसिस ने ही इस नई वेबसाइट को तैयार किया है.