Main

Today's Paper

Today's Paper

नामांकन स्थल से निराश लौटा बीडीसी का प्रत्याशी

वोटर लिस्ट से पूरे परिवार का नाम गायब, बीएलओ पर आरोप

मलिहाबाद, लखनऊ।  मलिहाबाद विकास खंड की सबसे पड़ी ग्राम पंचायत गढ़ी जिन्दौर गाँव का एक बीडीसी प्रत्याशी उस वक़्त निराश हो गया जब उसका नामांकन का पर्चा दाखिल न हो सका, पीड़ित ने वोटर लिस्ट से नाम काटने का आरोप बीएलओ पर लगाया है। युवक ने इसकी शिकायत चुनाव आयोग, मुख्यमंत्री, डीएम, एसडीएम से की है।

आपको बता दें गढ़ी जिन्दौर गाँव निवासी बाबूलाल मौर्य पुत्र इंदल मौर्य बीडीसी की तैयारी में काफी लंबे समय से लगा था पंचायत चुनाव में जैसे ही सीट उसके वार्ड की बैकवर्ड हुई उसने सभी लोगों से जनसंपर्क करना सुरु कर दिया था। यही नही उसने 12 होल्डिंग बनवाकर उसके वार्ड में लगने वाले गाँवों के हर नुक्कड़ पर लगवा दी तथा एक हजार पर्चे व स्टीकर भी छपवा दिए। बाबू लाल ने बताया कि वह लोगों की माँग पर ही बीडीसी में उतरा था उसे पूरी उम्मीद थी कि वह इस मुकाम में जीत हासिल करेगा लेकिन उसकी मेहनत पर पानी फिर गया। बाबू लाल ने बीएलओ पर आरोप लगाया है कि उसने उसका व उसके पूरे परिवार का नाम मिलीभगत कर के वोटर लिस्ट से कटवा दिया है जिससे वह और उसका परिवार सदमे में है। पीड़ित ने इसकी शिकायत चुनाव आयोग, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, डीएम लखनऊ अभिषेक प्रकाश, एसडीएम मलिहाबाद अजय कुमार राय सहित सभी संबंधित अधिकारियों से की है।

सभी प्रक्रियाएं कर चुका था पूरी

बाबू लाल मौर्य ने बताया कि उसने बीडीसी में नामांकन पर्चे में लगने वाले चार नोड्यूज, एक हजार रुपए ट्रेजरी फीस, आय प्रमाण पत्र, जाति प्रमाण पत्र, निवास प्रमाण पत्र, आधार कार्ड, पेन कार्ड, एक प्रस्तावक, एफीडेविट, सहित सभी कागज तैयार कर चुका था। लेकिन जब उसे पता चला कि उसका नाम वोटर लिस्ट में ही नही है तो उसके पैरों तले से जमीन ही खिसक गई। बीते तीन तारीख से पीड़ित संबंधित बाबू लाल अधिकारियों के चक्कर काट रहा है लेकिन उसे कोई सफलता नही मिली।

बाबू लाल को जीत की थी पूरी उम्मीद

बाबूलाल लखनऊ हरदोई हाइवे जिन्दौर गढ़ी गाँव के सामने कुँवर आसिफ अली डिग्री कालेज के पास पान की दुकान चलाता है। उसने बताया की बीडीसी का चुनाव जीतने की उसे पूरी उम्मीद थी। बाबू लाल के लिए दर्जनों लोग खुद घर- घर जाकर वोट माँग रहे थे।

Share this story