Main

Today's Paper

Today's Paper

रमजान के दिनों में ऐसे रखें सेहत का ध्यान 

रमजान के दिनों में ऐसे रखें सेहत का ध्यान

सेहत का ख्याल रखने के लिए जरूरी है कि संतुलित खाना खाया जाए और ये बात रमजान के दिनों में और भी जरूरी हो जाती है। रमजान के दिनों में खाने में कुल्चा नहारी, कबाव, पराठा और बिरयानी इत्यादि ही आमतौर पर खाई जाती है। सहरी के वक्त या इफ्तार के समय ही ये भोजन किया जाता है। पूरा दिन खाली पेट रहकर एकदम हाई कैलोरी भोजन सेहत के लिए ठीक नहीं इससे वजन बढना, एसीडिटी और पाचन आदि की समस्याएं आ सकती हैं। 

 

विशेषज्ञ कहते हैं कि रमजान के दौरान आपको उचित आहार लेना चाहिए, तला हुआ खाना और रेड मीट (मटन) नहीं खाना चाहिए तथा नियमित तौर पर व्यायाम करना चाहिए। रमजान में सेहत का ध्यान रखना जरूरी है तभी आप ठीक तरह से रोजा कर पाएंगे। आइए जानें कैसे रमजान में रखें सेहत का ध्यान।

 

आहार संबंधित सलाहें...

 

1. विभिन्न प्रकार के खाद्य पदार्थ और अनाज जैसे जौ, गेहूं, ओट्स, बाजरा, सूजी, फलियां, दालें, चोकर, हरी मटर, खुबानी, आलूबुखारा और बादाम खाएं।

 

2. बहुत अधिक भोजन न करें और धीरे धीरे खाएं। 

 

3. पाचन से संबंधित समस्याओं को टालने के लिए आलूबुखारे का रस पीयें।

 

4. तला हुआ भोजन और रेड मीट (मटन) न खाएं क्योंकि इनके कारण एसीडिटी और पाचन से संबंधित समस्याएं आ सकती हैं।

 

5. व्यायाम करने के बाद उचित प्रोटीन आहार लें।

 

6. डाईबिटीज (मधुमेह) के रोगियों को अधिक सावधान रहना चाहिए और हाइपोग्लाइसीमिया (रक्त में शर्करा की कमी होना) को टालना चाहिए। क्योंकि रमजान के समय पूरे एक महीने का उपवास होता है अतः अपना ध्यान रखें और अपने नियमित व्यायाम को कम करें तथा बहुत अधिक परिश्रम वाले व्यायाम न करें।

 

व्यायाम से संबंधित सलाह...

 

1. कार्डियो एक्सरसाइज (हृदय से संबंधित व्यायाम) जैसे चलना या साइकिलिंग आदि करें। इससे आपकी कैलोरीज बर्न होंगी और आपकी काम करने की क्षमता भी बढ़ेगी।

 

2. आप रमजान के पहले हलके फुल्के व्यायाम का प्रशिक्षण भी ले सकते हैं। इससे आपकी मांसपेशियों की ताकत बढ़ेगी।

 

3. वार्म अप और स्ट्रेचिंग के व्यायाम करें। संपूर्ण शरीर की स्ट्रेचिंग करने से शरीर की तन्यता बढ़ती है और शरीर का डिटाक्सीफिकेशन (शरीर से विषाक्त पदार्थ बाहर निकालना) भी होता है।

 

4. आप चटाई पर बैठकर किये जाने वाले व्यायाम भी कर सकते हैं जैसे फ्री स्कवॉट, एब्स और पुश अप्स।

 

5. योग और ध्यान शरीर से विषाक्त पदार्थ बाहर निकालने में सहायक हैं। 

 

6. समूह बनाकर व्यायाम करें - इससे कैलोरी भी बर्न होगी और दूसरों के साथ व्यायाम करने में आनंद भी आएगा।

 

7. कम से कम 20 से 40 मिनिट तक व्यायाम करें।

 

8. जब आप भूखे हैं तब व्यायाम न करें। आपको सेहरी (सूर्योदय के पहले का भोजन) के पहले या इफ्तार (सूर्यास्त के बाद का भोजन) के बाद व्यायाम करना चाहिए।

 

9. अधिक तीव्रता वाले व्यायाम न करें जैसे बहुत तेजी से दौडना, स्टेपर या भारी वजन उठाना क्योंकि जोड़ों या मांसपेशियों को चोट पहुंच सकती है और ब्लडप्रेशर लो होना (कम होना), हाइपोग्लाइसीमिया (रक्त में शर्करा की कमी होना) या चक्कर आना जैसी समस्याएं आ सकती हैं।




 

Share this story