Main

Today's Paper

Today's Paper

तीन पहले गायब संतोष की गोमती नदी में मिली लाश, परिवारीजनों ने जताई हत्या की आशंका

Three previously missing bodies found in Santosh's Gomti river, family members fearing murder

- परिजनों द्वारा थाने पर गुमशुदगी की तहरीर देने के बाद भी संतोष की खोजबीन में सक्रिय नहीं हुई पुलिस

- मृतक संतोष की सात मई को जानी थी बारात ,सोमवार को गोमती नदी में मिली लाश

- मृतक संतोष के परिजनों ने पुलिस कप्तान से की है, जांच की मांग 

बीकेटी,लखनऊ,04मई(तरुणमित्र)। थानाक्षेत्र के गोमती नदी पुल के नीचे तीन दिन से लापता युवक संतोष प्रजापति-22 निवासी बीकामऊ खुर्द का शव संदिग्ध परिस्थितियों में रविवार को देर शाम को नदी में उतराता मिला। मृतक की माता सुशीला ने अपने बेटे की हत्या किये जाने की आशंका जताते हुए मामले की तत्काल जांचकर दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई किये जाने की पुलिस कप्तान से मांग की है। 
परिजनों के मुताबिक सन्तोष एक मई को देर शाम घर से लापता हो गया था।घरवालों द्वारा थाने पर तहरीर देकर अचानक ग़ायब हो गये संतोष की खोजबीन में जुट गये।परिजनों का यह भी कहना है कि काफी समय तक खोजबीन करने के बाद युवक के ना मिलने पर बीकेटी  पुलिस को गुमशुदगी की शिकायत की थी। परंतु बीकेटी पुलिस ने चुनाव में बिजी शेड्यूल बताकर अगले दिन आने की बात कहकर मामले को आगे टाल दिया था।परिवारीजनों द्वारा अभी संतोष की खोजबीन बन्द नहीं हुई थी,कि तीसरे दिन अचानक उन्हें सोमवार को कठवारा गांव के मंझी घाट से अज्ञात द्वारा व्यक्ति द्वारा सूचना मिली, कि एक लाश पानी में तैरती हुई मिली है। परिजन जब मौके पर पहुंचे।पानी में पड़े रहने के कारण शव काफी फूल गया था और उसमें सड़न शुरू हो चुकी थी।वहीं चेहरे पर चोट के निशान व मुंह पर कालिख पोती हुई थी।परिवारीजनों ने शव की पहचान कपडों से कर युवक शव सन्तोष का ही होने की पुष्टि कर अपने बेटे की हत्या की आशंका जताई है।वहीं पुलिस ने मृतक के परिजनों से तहरीर लेकर मामले की जांच पड़ताल में जुट गयी है।बता दें कि मृतक संतोष की शादी तय थी।सात मई को संतोष की बारात जानी थी।घर में सन्तोष की शादी की जोर शोर से तैयारियां चल रही थीं। ऐसे में इस तरह की अनहोनी होने से परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है।आपको बता दें कि इससे पहले भी छह माह पूर्व मृतक संतोष के पिता सुशील कुमार की लाश गांव के बाहर खलिहान में संदिग्ध परिस्थितियों में पेड़ की डाल में गमझे से लटकती मिली थी।लेकिन पुलिस ने हल्के में लेते हुए मामले को आत्महत्या में दिखा दिया गया था।लेकिन तब भी परिवारीजनों ने सुशील कुमार की हत्या किये जाने के आरोप लगाये गये थे।

Share this story