UKADD
Saturday, October 16, 2021 at 4:07 AM

लोग पेयजल समस्या को लेकर सड़क पर उतरे

नालंदा। नगर निगम की तमाम सक्रियता के बावजूद पेयजल समस्या की ऐसी तस्वीर चितित करने वाली है। दस दिनों से वार्ड 18 में पेयजल की किल्लत है। इस त्योहार में जल की एक-एक बूंद के लिए लोगों को दौड़ लगानी पड़ रही है। हैरत की बात है है कि दस दिनों से जल के लिए मचे हाहाकार की सूचना तक निगम के पास नहीं है। शहर के लोगों की सुविधाओं में कोई कमी न हो इसके लिए नगर आयुक्त के अतिरिक्त चार उप नगर आयुक्त तथा एक नगर प्रबंधक हैं।

नगर निगम के विकास कार्यों में इन उपनगर आयुक्तों तथा नगर प्रबंधक की भूमिका अब तक समझ से परे रही है। शहर की स्थिति तक की जानकारी उनके पास नहीं होती है। दस दिनों से वार्ड 18 में मचे हाहाकार की खबर निगम को न होना केवल आश्चर्य है बल्कि यह निगम की कर्तव्यहीनता को भी प्रदर्शित करता है। पेयजल की कमी से आक्रोशित लोगों ने मंगलवार को सोहसराय मोगलकुआं मस्जिद के पास घंटो जाम रखा। लोगों ने बताया कि पेयजल की विकट समस्या की जानकारी कई बार अधिकारियों को दी गई लेकिन कुछ नहीं हो सका।

हैरत की बात तो यह रही कि घंटो सड़क जाम के बावजूद किसी अधिकारी ने जाम हटाने की जहमत नहीं ली। हार थक कर लोगों ने खुद जाम हटाया। लोगो ने कहा कि नवरात्र के समय निगम की सुस्ती लोगों की परेशानी का एक बड़ा कारण बना है।

वाटर सप्लाई बाधित होने की सूचना आज ही मिली है। सूचना मिलते ही पानी का दो टैंकर भेज वार्ड 18 भेज दिया गया है। वहीं मोटर को ठीक करने में मेकैनिक जुटे हैं। शाम तक मोटर ठीक होने की संभावना है। कई बार स्थिति उतनी विकराल नहीें होती जितनी दिखाई जाती है। सड़क जाम जैसी चीजें राजनीति से प्रेरित होती है, अंशुल अग्रवाल, नगर आयुक्त।