पंचायत में नल-जल योजना की पोल

बक्सर : सरकार के निर्देश पर गुरुवार को जिलाधिकारी अमन समीर ने खरहाटांड़ पंचायत में हुए विकासात्मक कार्यों के साथ साथ शिक्षा, चिकित्सा, पीडीएस सहित 15 बिदुओं पर गहन जांच की। इस दौरान जहां कहीं तनिक भी त्रुटि दिखाई दी संबंधित कार्य एजेंसी को जमकर फटकार लगाई। खासकर हर घर नल का जल पहुंचाने के नाम पर हुई हीलाहवाली को गंभीरता से लेते हुए उन्होंने लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग के कनीय अभियंता को एक सप्ताह के अन्दर पंचायत में कैंप कर हर घर नल का जल पहुंचाने का निर्देश दिया।

वहीं, गली नाली निर्माण में भी जहां कही अनियमितता दिखाई दी, संबंधित कार्य एजेंसी को तत्काल उसे दुरुस्त करने के लिए निर्देशित किया। आंगनबाड़ी केंद्र कोड संख्या 130 का स्थान परिवर्तित करने के साथ ही दुबौली गांव स्थित सरकारी भवन में पशुचारा रखने वाले के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए बाल विकास परियोजना पदाधिकारी को अधिकृत करते हुए उन्होंने कहा कि सरकारी भवन पर अवैध कब्जा जमाने वालों पर त्वरित कार्रवाई की व्यवस्था सुनिश्चित होनी चाहिए। इसमें किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। जन वितरण प्रणाली की दुकान का निरीक्षण करने के दौरान उन्होंने गोदाम एवं स्टॉक पंजी का अवलोकन करते हुए स्थानीय उपभोक्ताओं से भी पूछताछ की, लेकिन किसी ने दुकानदार के विरुद्ध कोई शिकायत नहीं की।

इसके बाद उन्होंने उप स्वास्थ्य केंद्र, प्रधानमंत्री आवास योजना, मनरेगा, मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना सहित निर्धारित कुल 15 बिदुओं पर गहन जांच करते हुए संबंधित विभागीय अधिकारियों को कई आवश्यक दिशा निर्देश दिया। मौके पर प्रखंड विकास पदाधिकारी अजय कुमार सिंह, डीपीओ आइसीडीएस तरुणी कुमारी, सीडीपीओ संगीता कुमारी, आपूर्ति पदाधिकारी प्रीति कुमारी, पीओ नुरुल होदा, सांख्यिकी पदाधिकारी शिव शंकर सिंह सहित अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे। इसके अलावा प्रखंड की अन्य पंचायतों में राजपुर कला पंचायत में अनुमंडलीय लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी विद्यानाथ पासवान, एकौना में वरीय उप समाहर्ता विकास कुमार जायसवाल, सिमरी में प्रखंड विकास पदाधिकारी अजय कुमार सिंह एवं पड़री में अंचलाधिकारी कौशल कुमार ने जांच की। इंसेट., अक्षांश और देशांतर में अंतर स्पष्ट नहीं कर पाए उत्क्रमित उच्च विद्यालय खरहाटांड़  उच्च विद्यालय खरहाटांड़ के स्मार्ट क्लास में शिक्षक बच्चों को सामाजिक विज्ञान पढ़ा रहे थे।

See also  पैसेंजर ट्रेनों में अभी भी रिजर्वेशन, लगता है

इसी दौरान जिला पदाधिकारी अमन समीर न सिर्फ संबंधित कक्ष में पहुंच गए, बल्कि छात्र छात्राओं से कुछ विषयक सवाल भी किए। उन्होंने पूछा कि अक्षांश और देशांतर रेखा क्या है, इसका अंतर स्पष्ट कीजिए ? मगर कोई इसका जवाब नहीं दे पाया। इसके अलावा भी अन्य वर्ग कक्षों के बच्चों से उन्होंने कई प्रश्न पूछे, लेकिन सारे बच्चे निरुत्तर रहे। इसके बाद उन्होंने प्रखंड विकास पदाधिकारी के साथ एमडीएम का स्वाद चखा एवं प्रधानाध्यापक को निर्देशित करते हुए कहा कि विद्यालय में एमडीएम का चावल आपूर्ति होने के दौरान उसका वजन कराएं।