पुलिस की निगाह डी-10 गैंग पर टिक गई

भदोही । जनपद में वाहन, पशु तस्करी के साथ ही साथ शूटर और माफिया के अब तक 14 गैंग पंजीकृत हैं। इसमें पूर्व विधायक का एक गैंग आइजी के यहां से पंजीकृत था। पंजीकृत गैंग में शामिल सभी सदस्यों की एक बार फिर हिस्ट्रीशीट खोली जा रही है। वह हर समय पुलिस की निगरानी में रहेंगे। डी-10 गैंग में शामिल शातिर बदमाश राहुल ऊर्फ निहाल दुबे की तलाश की जा रही है। एसपी डा. अनिल कुमार ने बताया कि डी-10 गैंग लीडर राहुल दुबे ऊर्फ निहाल दुबे सुरियावां थाने के बनकट गांव निवासी है। इस गैंग में सियरहा निवासी सूरज मौर्य, डूडवाधर्मपुरा निवासी सौरभ, सद्दाम अली, बनकट गांव निवासी रूपेश दुबे ऊर्फ राइडर, नरोत्तम मोढ़ निवासी विशाल मोदनवाल और डुडवाधरमपुर निवासी सुक्खू गुप्ता ऊर्फ कबाड़ी सदस्य हैं। गैंग को पंजीकृत करते हुए कार्रवाई की जाएगी।

जनपद में माफियाओं का गैंग बहुत पुराना हो चुका है। पुलिस अब उस गैंग में शामिल माफिया का नाम भी नहीं बताना चाहती है। वह इसलिए कि उसमें ज्यादातर की मौत हो गई है। जो बचे भी हैं वह वृद्ध हो चुके हैं। गैंग के सदस्यों की सक्रियता भी बहुत कम हो गई है। इसके बाद भी वह हर समय पुलिस के लोकेशन पर रहते हैं।

डी-5 गैंग हाईवे पर वाहनों को लूटने के साथ ही साथ पशु तस्करी भी करता है। इस गैंग में जंगीगंज का रेहान उर्फ मुन्ना, शकील उर्फ मुर्गा और अप्पू भाट सहित अन्य शामिल हैं। इसके पहले डी-6 के कई सदस्यों को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है। विधानसभा चुनाव को सकुशल संपन्न कराने के लिए अलर्ट मोड में आई पुलिस अब अपराधियों पर झपट्टा मारने की पूरी तैयारी कर चुकी है। विधानसभा चुनाव में खलल डालने वालों को किसी भी दशा में बख्शा नहीं जाएगा। चाहे वह कितना पकड़ रखते हों। पंजीकृत गैंग में शामिल सदस्यों की सक्रियता पर पूरी नजर रखी जा रही है। सभी सदस्यों की हिस्ट्रीशीट खोली जाएगी।

See also  छात्रसंघ चुनाव की घोषणा को निर्वाचन अधिकारी करेंगे