Monday, December 6, 2021 at 4:22 AM

पुलिस के हाथ अंकित दास के घर से लगा बड़ा सुराग

लखनऊ. लखीमपुर हिंसा के आरोपी अंकित दास के फ्लैट से पुलिस ने एक ‌पिस्टल और रिपीटर गन बरामद की है. पिस्टल का लाइसेंस अंकित दास के नाम पर है, वहीं रिपीटर गन का लाइसेंस उसके बॉडीगार्ड लतीफ उर्फ काले के नाम पर है. अंकित गुप्ता का लखनऊ के हुसैनगंज में क्ले स्क्वायर सोसायटी में अपार्टमेंट है. इससे पहले क्राइम ब्रांच ने अंकित दास को बीते बुधवार गिरफ्तार कर लिया था. अंकित ने पूछताछ के दौरान बताया था कि वारदात के पहले वो आशीष मिश्रा से मिला था और प्रदर्शनकारी किसानों के बारे में बताने पर आशीष ने कहा था कि चलो उन्हें सबक सिखाते हैं.
उसने बताया था कि वारदात के दिन वो डिप्टी सीएम केशव मौर्या को रिसीव करने गया था. उसने बताया कि थार के पीछे मैं काली फार्च्यूनर में था जिसे शेखर भारती चला रहा था. उसने बताया कि आगे चल रही जीप किसानों को कुचलते हुए आगे निकल गई.

अंकित ने बताया था कि किसानों को कुचलने के बाद जीप पलट गई. जीप को हरिओम मिश्रा चला रहा था. इसके बाद भीड़ ने हमला कर दिया. अंकित ने कहा कि हम घबरा गए थे और गाड़ी से उतर कर मैंने और काले ने भीड़ पर फायरिंग की. इसके साथ ही मौके से भाग निकले. वहीं काले ने बताया कि वो करीब दस साल से अंकित दास के बॉडीगार्ड और गनर का काम कर रहा हूं.
वहीं, पूछताछ के दौरान काले ने बताया था कि आगे चल रही थार गाड़ी को हरिओम चला रहा था और उसके पायदान पर दो लोग खड़े थे. वहीं जिस गाड़ी में अंकित था उसे शेखर भारती चला रहा था. काले ने बताया कि अंकित के पास पिस्टल और उसके पास रिपीटर गन है. काले ने ये भी बताया था कि किसानों के घिरने पर उसने उन पर फायरिंग की थी.