UKADD
Thursday, October 21, 2021 at 7:24 PM

पल्स पोलियो की तर्ज पर कोरोना से निपटने की तैयारी

लखनऊ। आर्थिक दिक्कतों के मद्देनजर भले ही सरकार ने लम्बी अवधि के लिये चले लॉकडाउन को हटाते हुए देश-प्रदेश में अनलॉक के तौर प्रतिबंध का नया तरीका ढंूढ लिया हो, मगर तमाम कोशिशों के बावजूद कोरोना के संक्रमण का ग्राफ अपेक्षा के अनुरूप कम होने का नाम नहीं ले रहा है। रविवार को सरकारी प्रवक्ता से मिली जानकारी के तहत प्रदेश में 606 नए मामलों के साथ ही संक्रमितों की संख्या 22 हजार को पार कर गई है। इस बाबता प्रमुख स्वास्थ्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि बीते 24 घंटे में कोरोना के 606 नए प्रकरण सामने आए हैं और कुल संक्रमितों की संख्या 22 हजार 147 हो गई है। जिसमें से तकरीबन 14 हजार 808 मरीज इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं उन्हें अस्पातल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। प्रसाद ने कहा कि राज्य में कोरोना मरीजों की रिकवरी रेट काफी अच्छी है और फिलहाल 66. 86 प्रतिशत मरीज ठीक हो चुके हैं। प्रमुख स्वास्थ्य सचिव ने बताया कि राज्य में फिलहाल कोरोना के 6679 सक्रिय मामले हैं, जिनका अलग-अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा है। उन्होंने कहा कि पल्स पोलियो की तर्ज पर इस अभियान के तहत हमारी टीमें घर-घर जाकर सर्वेक्षण का काम शुरू करेंगी। प्रसाद ने बताया कि हम लगातार अपनी जांच क्षमता को बढ़ा रहे हैं। अब हम निरंतर 20 हजार से अधिक सैंपल की जांच कर रहे हैं। शनिवार को राज्य में 20 हजार 782 सैंपल की जांच हुई। अभी तक प्रदेश में कुल 6 लाख 84 हजार 296 सैंपल की जांच हो चुकी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में लोग आरोग्य सेतु ऐप का निरंतर इस्तेमाल कर रहे हैं। अभी तक ऐप से मिले अलर्ट के आधार पर स्टेट हेड क्वार्टर से 93 हजार 646 लोगों को कॉल किया गया है और उनके स्वास्थ्य के संबंध में जानकारी ली गई है।
उन्होंने कहा कि प्रवासी श्रमिकों और कामगारों के ट्रैकिंग का काम भी लगातार जारी है। आशा वर्कर्स ने अभी तक 19 लाख 1 हजार 712 लोगों की ट्रैकिंग कर ली है। उन्होंने बताया कि सविंर्लांस का काम भी जारी है। हमारी टीमों ने अभी तक 5 करोड़ 60 लाख 53 हजार 424 लोगों की मेडिकल स्क्रीनिंग का काम पूरा कर लिया है। अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि जुलाई के महीने से हम एक बड़ा अभियान शुरू करने जा रहे हैं। इसकी शुरूआत मेरठ मंडल से होगी और धीरे-धीरे राज्य के 17 मंडल में इसका विस्तार किया जाएगा।