धनराशि वापस नहीं की तो वसूली के लिए आरसी होगी जारी

 देवरिया। उप कृषि निदेशक ने बताया है कि जनपद में कुल 4,71,185 किसानो को 1 से 10 किस्तों में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ प्राप्त किये हैं व जनपद में 26 हजार किसान अपात्र चिन्हित किये गये हैं।
उप कृषि निदेशक ने कहा है कि जिन अपात्र कृषकों को जो भुगतान प्राप्त हुआ है वे अपने आधार कार्ड, बैंक पासबुक की छायाप्रति के साथ प्राप्त धनराशि कार्यालय में जमा करें। यदि अपात्र कृषकों के द्वारा एक माह के अन्दर प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से प्राप्त धनराशि वापस नहीं किया जाता है, तो उनके खिलाफ आर०सी० निर्गत कराकर वसूली की कार्यवाही की जायेगी। जनपद में 11वी किस्त का लाभ ई-केवाईसी कराये गये कृषकों को ही प्राप्त होगा। जनपद में 251834 कृषकों द्वारा सहज जन सेवा केन्द्र से बायोमेट्रिक एवं स्वयं ओटीपी द्वारा ई-केवाईसी करा लिया गया। शेष कृषक 31 मई तक ई-केवाईसी अवश्य करा लें। इसी क्रम में उन्होंने बताया कि कृषकों में वितरण हेतु ढैचा बीज 418 कुन्तल एवं धान बीज 1807 कुन्तल के सापेक्ष 689.70 कुन्तल बीज प्राप्त हुआ है। जिसे विकास खण्डों के राजकीय कृषि बीज भण्डारों पर उपलब्ध कराया जाएगा।। धान बीज बीपीटी-5204, एमटीयू-7020, सांभा सब-1, सरयू-52 प्रजाति उपलब्ध है। ढैचा बीज 5465 रुपया प्रति कुन्तल की दर से देय है।
           धान मोटा प्रमाणित बीज दर प्रति कुन्तल 3555, आधारित बीज दर प्रति कुन्तल 3745, धान महीन बीज प्रति कुन्तल 3581, आधारित बीज  3770 तथा धान बासमती प्रमाणित बीज 5305 प्रति कुंतल मूल्य निर्धारित है व  बीजो पर 50 प्रतिशत की दर से अनुदान देय होगा। एक किसान को अधिकतम 2 हेक्टेयर क्षेत्रफल के लिए बीज देय होगा। गत वर्ष जिन किसानो को बीज पर अनुदान का लाभ मिल चुका है उन्हे इस वर्ष अनुदान देय नही होगा। कृषक बीज प्राप्त करने हेतु आधार कार्ड, बैंक पासबुक एवं भूमि  संबंधी अभिलेख की छायाप्रति  साथ में लेकर अपने विकास खण्ड के राजकीय कृषि बीज भण्डार से किसी भी कार्य दिवस में बीज प्राप्त कर सकते हैं।
See also  संस्थान जनपद के विकास में होगा मील का पत्थर:डीएम