Monday, December 6, 2021 at 5:13 AM

पढ़ने योग्य लिखा जाये और लिखने योग्य कार्य किया जाये – नरोत्तम मिश्रा

भोपाल।। गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने सप्रे संग्रहालय भोपाल में आयोजित पत्रकारिता अलंकरण समारोह में कहा कि
उत्कृष्ट पत्रकारिता के लिये पढ़ने योग्य लिखे जाने की और लिखने योग्य कार्य किये जाने की जरूरतनं है। समारोह में डॉ. मिश्रा के साथ अतिथियों ने विभिन्न विधाओं में उत्कृष्ट कार्य करने वाली पत्रकारिता से जुड़ी विभूतियों को शॉल, श्रीफल और प्रशस्ति-पत्र प्रदान कर सम्मानित किया। माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय के कुलपति के.जी. सुरेश, वरिष्ठ राजनीतिज्ञ और समाजसेवी श्री रघुनंदन शर्मा और वरिष्ठ पत्रकार चन्द्रकांत नायडू मौजूद थे।
उन्होंने समारोह में पुरस्कृत एवं सम्मानित होने वाले पत्रकारों को शुभकामनाएँ देते हुए कहा कि निष्पक्ष पत्रकारिता की साख को बनाये और बचाये रखने की जिम्मेदारी आप सब पर है। पत्रकारिता में तथ्यों और गहराई में जाकर कार्य करने की आवश्यकता है। डॉ. मिश्रा ने सप्रे संग्रहालय की सराहना करते हुए कहा कि यह पत्रकारों के लिये तीर्थ-स्थल है। संस्थान के संस्थापक पद्मश्री श्री विजयदत्त श्रीधर ने संग्रहालय के रूप में पत्रकारिता के शोधार्थियों के लिये एक अनूठे संस्थान की स्थापना की है। यहाँ विगत 30 वर्षों से पत्र-पत्रिकाओं का संग्रहण और अधिक समृद्ध होता जा रहा है।
वरिष्ठ पत्रकार शिवकुमार विवेक को माखनलाल चतुर्वेदी पुरस्कार, प्रमोद भारद्वाज को जगदीश प्रसाद चतुर्वेदी पुरस्कार, नवीन पुरोहित को झाबरमल्ल शर्मा पुरस्कार, श्री सरमन नगेले को के.पी. नारायणन पुरस्कार, जगदीश द्विवेदी को राजेन्द्र नूतन पुरस्कार, प्रफुल्ल पारे को गंगाप्रसाद ठाकुर पुरस्कार, शशिकांत तिवारी को आरोग्य सुधा पुरस्कार और चौधरी को सुरेश खरे पुरस्कार प्रदान किया गया।
संयुक्त संचालक जनसम्पर्क संजय जैन को संतोष कुमार शुक्ल लोक संप्रेषण पुरस्कार, जगदीश कौशल सेवानिवृत्त अपर संचालक को छायाचित्रों में समकालीन विशिष्ट व्यक्तियों के स्मरणीय प्रसंग संजोने के लिये हुकुमचंद नारद पुरस्कार, फोटो जर्नलिस्ट रजा मावल को होमई व्यारावाला पुरस्कार प्रदान किया गया। कार्यक्रम में कोरोना महामारी के दौरान उत्कृष्ट रिपोर्टिंग के लिये रोहित श्रीवास्तव, अजय वर्मा और विवेक राजपूत की टीम को जगत पाठक पुरस्कार, कला, संस्कृति, ज्ञान-विज्ञान की उत्तम रिपोर्टिंग के लिये श्री हितेष शर्मा को लाल बलदेव सिंह पुरस्कार और श्रेष्ठ बाल पत्रकारिता के लिये सुश्री इंदिरा त्रिवेदी को रामेश्वर गुरु पुरस्कार प्रदान किया गया।