सीएम नीतीश और आरसीपी सिंह की मुलाकात पर राजद का बड़ा दावा

पटना । बिहार में पांच सीटों के लिए होने वाले राज्यसभा चुनाव को लेकर सियासी गहमागहमी तेज है। विधायकों की संख्या के आधार पर बीजेपी कोटे से दो, राजद से दो और जदयू से एक उम्मीदवार को राज्यसभा भेजा जा सकता है। पटना से दिल्ली आने के बाद राष्ट्रीय जनता दल के सुप्रीमो लालू प्रसाद लालू यादव (Lalu Prasad Yadav) ने राजद से मीसा भारती (Misa Bharti) और फैयाज अहमज को राज्यसभा भेजना का फैसला कर लिया है। बीजेपी ने अपने पत्ते नहीं खोले हैं। जबकि आरसीपी सिंह को लेकर कई तरह की चर्चाएं सियासी बाजार में हैं। चर्चाओं के बीच गुरुवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) और केन्द्रीय मंत्री आरसीपी सिंह (RCP Singh) की मुलाकात के बाद अब राजद ने बड़ा दावा किया है। राजद का कहना है कि बीजेपी के दबाव के बाद जदयू आरसीपी सिंह के नाम पर हामीं भर दी है।

राजद ने किया दावा

सीएम नीतीश कुमार और आरसीपी सिंह की गुरुवार की शाम हुई मुलाकात के बाद सियासी बयानबाजी तेज है। राजद प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा है कि पहले यह कयास लगाए जा रहे थे कि आरसीपी सिंह को राज्यसभा नहीं भेजा जाएगा लेकिन अब उनको उच्च सदन में भेजना का फैसला किया गया है। राजद प्रवक्ता ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के दबाव के आगे जदयू झुक गई है। उसके बाद ही ऐसा फैसला लिया गया है। हालांकि मृत्युंजय तिवारी ने आखिर में यह भी कहा कि ये अंदरुनी मामला है। पार्टी तय करेगी कि किसकों उम्मीदवार बनाना है।

सही वक्त में होगा फैसला’

See also  विधान परिषद : दलसिंहसराय में  217 मतदाता में 216 ने किया  मतदान 

वहीं जनता दल यूनाइटेड के प्रवक्ता अभिषेक झा ने कहा कि पार्टी के सभी विधायकों ने सीएम नीतीश कुमार को उम्मीदवार के चयन को लिए अधिकृत कर दिया है। हमारी पार्टी में ऐसे मसलों को लेकर कभी विवाद नहीं रहता है। किसी भी मुलाकात के सियासी मायने निकालने वाले जाने। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि सही समय पर उम्मीदवार के नाम का ऐलान हो जाएगा। जदयू प्रवक्ता ने कहा कि किसी परेशान होने की जरूरत नहीं है।