UKADD
Saturday, October 16, 2021 at 10:32 AM

नहीं बढ़ेगी विधायकों की सैलरी…

नई दिल्ली।  दिल्ली में सत्तासीन आम आदमी पार्टी सरकार को झटका लगा है। पिछले कई सालों से दिल्ली के विधायकों में इजाफा करने की मांग चल रही थी। इस बाबत दिल्ली सरकार ने केंद्रीय गृह मंत्रालय को भेजे प्रस्ताव में विधायकों को प्रतिमाह 2.10 लाख रुपये वेतन-भत्ता देने की सिफारिश की थी, लेकिन इस पर सहमति नहीं बनी। बहरहाल, विधायकों को प्रतिमाह 90 हजार रुपये ही वेतन-भत्ते के रूप में मिलेंगे। इनमें 30 हजार रुपये वेतन और अन्य राशि भत्तों के रूप में मिलेगी।

दिल्ली सरकार फिर भेजेगी प्रस्ताव

केंद्र सरकार की ओर से प्रस्ताव ठुकराए जाने के बाद अब मंगलवार को एक बार फिर विधायकों के वेतन व भत्ते में वृद्धि को लेकर दिल्ली कैबिनेट में प्रस्ताव लाया जा सकता है। बताया जा रहा है कि दिल्ली सरकार पूरी तैयारी कर चुकी है और इस बाबत प्रस्ताव एक बार फिर केंद्र सरकार के पास भेजा जाएगा।

दरअसल, दिल्ली सरकार द्वारा केंद्र सरकार को भेजे गए प्रस्ताव में कहा गया था कि यहां के विधायकों को देश के किसी भी राज्य के विधायकों की तुलना में कम वेतन और भत्ता मिल रहा है। वर्ष 2011 के बाद यानी 10 साल से दिल्ली के विधायकों के वेतन में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है। ऐसे में इन विधायकों को भी अन्य राज्यों के विधायकों के बराबर वेतन-भत्ता मिलना चाहिए।

अन्य राज्यों की तुलना में दिल्ली में सैलरी बेहद कम

दिल्ली सरकार ने दावा किया है कि देश के अन्य राज्यों में विधायकों को दिल्ली के विधायकों की तुलना में डेढ़ से ढाई गुना अधिक वेतन और भत्ता मिल रहा है। दिल्ली के आम आदमी पार्टी के विधायकों के मुताबिक, देश के अन्य राज्यों की तुलना में यहां पर सैलरी कम है, जबकि दिल्ली महंगा शहर है।