UKADD
Saturday, October 16, 2021 at 6:07 AM

त्यौहारों के मद्देनजर आबकारी का विशेष प्रवर्तन अभियान

सीएम के आदेश और मंत्री के निर्देश पर अलर्ट हुई आबकारी टीम
-हरियाणा, नेपाल, उत्तराखंड के सीमायी क्षेत्रों में बढ़ाई गई चौकसी
लखनऊ। आगामी प्रमुख त्यौहारों को ध्यान में रखते हुए आबकारी विभाग ने अवैध मदिरा पर रोक लगाने के मद्देनजर 12 अक्टूबर से पांच नवंबर तक विशेष प्रवर्तन अभियान शुरू किया है। इस बाबात संजय आर भूसरेड्डी अपर मुख्य सचिव आबकारी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने प्रदेश में अवैध मदिरा के निर्माण, बिक्री व तस्करी के विरूद्ध कठोरतम कार्रवाई करने के आदेश दिये हैं। वहीं इस क्रम में आबकारी मंत्री राम नरेश अग्निहोत्री ने भी निर्देशित किया है कि निकट भविष्य में दशहरा और दीपावली त्योहारों के दृष्टिगत अवैध मदिरा के निर्माण, तस्करी व बिक्री की को देखते हुए उक्त तिथियों के मध्य प्रदेश स्तर पर विशेष प्रवर्तन अभियान चलाया जायेगा। इस अभियान के दौरान जिलाधिकारी तथा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक-पुलिस अधीक्षक के माध्यम से आबकारी, पुलिस व प्रशासन की संयुक्त टीमों का गठन करते हुए दबिश और चेकिंग कार्रवाई करेंगी। इसके तहत अवैध शराब के निर्माण और बिक्री के अड्डों पर दबिश दिये जाने के साथ हाईवे पर स्थित संदिग्ध ढाबों की भी जांच कराई जायेगी। आबकारी दुकानों पर उपलब्ध स्टाक की सूक्ष्मता के साथ जांच की जायेगी।
अपर मुख्य सचिव ने बताया कि मुख्य मार्गों पर वाहनों की भी चेकिंग शुरू की गई है। अवैध मदिरा के कार्य में संलिप्त माफियाओं पर आबकारी अधिनियम की धाराओं के साथ आईपीसी धाराओं में भी एफआईआर दर्ज कराते हुए कठोर कार्रवाई की जायेगी।
सेंथिल पांडियन सी. आबकारी आयुक्त ने बताया कि अभियान के दौरान यदि किसी व्यक्ति को किसी स्थान पर अवैध मदिरा के निर्माण, बिक्री, तस्करी अथवा शराब से जुड़ी अन्य किसी शिकायत की सूचना प्राप्त होती है तो वह तत्काल मुख्यालय कन्ट्रोल रूम पर स्थापित टोल फ्री नम्बरों 14405 और 18001805331 पर दिये जाने के साथ ही व्हाट्सऐप नंबर 9454466019 पर भी सूचना दे सकते हैं। आबकारी आयुक्त ने कहा कि प्रवर्तन अभियान के तहत ईंट भट्ठों, बहुत दिनों से बन्द पड़ी फैक्ट्रियों और गोदामों, खण्डहर, इंडस्ट्रियल एरिया के संदिग्ध गोदामों, कोल्ड स्टोरेज, आरओ वाटर प्लाण्ट, पेन्ट एंड थिनर की दुकान, एफएल-16/17 की दुकानों की सघनता से जांच किये जाने के निर्देश दिये गये हैं। आगे बताया कि अवैध शराब की तस्करी की रोकथाम के लिए हरियाणा, नेपाल तथा उत्तराखण्ड के सीमायी क्षेत्रों में चौकसी बरतने के कड़े निर्देश दिये गये हैं।