UKADD
Saturday, October 16, 2021 at 5:41 AM

सुनील दत्त को फिल्म मदर इंड़िया में मिला था अपना प्यार आप भी जाने क्या था माजरा

दोस्तों पता है सुनिल दत्त भारतीय फिल्मों के सुपर डुपर हीरो थे। वे अपनी शर्त पर फिल्में करते थे। उनकी मदर इंड़िया बहुत ही शानदार फिल्म थी। इस फिल्म में दत्त साहब ने नरगिस के बेटे का रोल किया था। कहा जाता है कि इस फिल्म के बाद ही दत्त साहब को नरगिस से प्यार हो गया था। इस फिल्म ने उनकी जिन्दगी से मिला दिया था। कहते है कि वे नरगिस के सादगी में फिदा हो गये थे। और उनसे प्यार करने लगे । दोनों ने शादी भी कर ली और अपनी लाइफ का आनंद लेने लगे। पर भगवान को यह मंजूर नहीं था। नरगिस को कैंसर हो गया और वे इस दुनिया से हमेशा के लिए चली गई। उनकी मौत के बाद सुनिल साहब बिल्कुल टूट गये। आप को बता दें कि सुनिल दत्त केवल एक हीरो ही नहीं थे वे एक राजनेता थे। वह एक प्रसिद्ध राजनीतिज्ञ थे। 2004 और 5 के दौरान मनमोहन सिंह सरकार में युवा मामलों और खेल विभाग में कैबिनेट मंत्री रहे हैं।

आप को बताते चले कि दत्त साहब का वास्तविक नाम बलराज रघुनाथ दत्त था। सिनेमा जगत में सुनील दत्त को एक ऐसी शख्सियत के तौर पर याद किया जाता है, जिन्होंने फिल्म निर्माण, निर्देशन और अभिनय से लगभग चार दशक तक दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया। उनके किरदार उनकी जीवन के करीब होते थे ,और उनका व्यक्तित्व भी उनके किरदार की तरह उज्जवल और प्रभावशाली रहा।

बता दें कि सुनील दत्त का जन्म 6 जून, 1929 को भारत के पंजाब जिले के खुर्दी नामक गांव में हुआ था जो कि अब पाकिस्तान में है। बंटवारे के दौरान उनका परिवार भारत आ गया। सुनिल दत्त के जीवन नरगिस का जाना सबसे दुखदाई रहा । आप को बता दें कि 25 मई, 2005 को मुंबई में, दिल का दौरा पढ़ने से दत्त साहब की मृत्यु हो गई। उनके जीवन की अंतिम फिल्म थी, मुन्नाभाई एमबीबीएस इस फिल्म के माध्यम से पहली बार पिता पुत्र एक साथ पर्दे पर नजर आए थे। उन्हें कई राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित किया गया। सुनिल साहब को पद्मश्री पुरस्कार भी दिया गया था।