शिक्षकों ने उठाया पुरानी पेंशन नीति का मुद्दा, वैभव संगठन मंत्री बने

बस्ती – शुक्रवार को उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ की बैठक कलेक्टेªट स्थित राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद कार्यालय में जिलाध्यक्ष चन्द्रिका सिंह की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। बैठक में शिक्षक समस्याओं के निराकरण पर विचार करने के साथ ही डीए, बोनस, शिक्षकों के बकाया वेतन पर विचार किया गया। इसी कड़ी में संघ का विस्तार करते हुये बैभव मिश्र को संगठन मंत्री पद का दायित्व सौंपा गया और अशद जमाल, गोपाल दूबे और अजीत वर्मा को जनपदीय कार्यसमिति में शामिल किया गया है।
बैठक में संघ जिलाध्यक्ष चन्द्रिका सिंह ने कहा कि पिछले 16 वर्षो से शिक्षक पुरानी पेंशन नीति बहाल किये जाने की मांग कर रहे हैं किन्तु राजनीतिक दल इस पर चुप है। कहा कि समाजवादी पार्टी ने पुरानी पेंशन नीति बहाल किये जाने की मांग को अपने घोषणा पत्र में शामिल किया है। अन्य राजनीतिक दलों को भी इस प्रकार का कदम उठाना चाहिये।
जनपदीय मंत्री बालकृष्ण ओझा ने कहा कि पेेंशन शिक्षकों के बुढापे की लाठी है। यदि सांसद, विधायक एक बार चुने जाने पर जीवन भर पेंशन के हकदार है तो शिक्षक, कर्मचारी क्योें नहीं। कहा कि सभी दलों को मिलकर इस न्यायोचित मांग को पूरा करने की दिशा में आगे आना चाहिये।
बैठक में मुख्य रूप से राजकुमार तिवारी, डा. प्रमोद सिंह, प्रताप नरायन, अशोक यादव, दौलतराम, सन्तोष मिश्र, राकेश सिंह, मो. मुस्तकीम, नीरज सिंह, वीरेन्द्र शुक्ल, दिलीप दूबे, चन्द्र प्रकाश पाल, अमित सिंह, अनिल पाठक, शिव प्रकाश सिंह, सुधीर तिवारी, दुर्गेश यादव, अविनाश दूबे, प्रवीण श्रीवास्तव, शिवरतन, सनद पटेल आदि शामिल रहे।

See also  25 हजार रुपये का ईनामिया अवैध पिस्टल के साथ गिरफ्तार