Wednesday, December 8, 2021 at 3:16 PM

पराली जलाने के मामले पर प्रशासन अब सख्त

बलिया । बार-बार मना करने के बाद भी पराली जलाने वाले दो दर्जन किसानों की प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि रोकने की संस्तुति जिला कृषि विभाग ने की है। आगे भी किसानों को चिन्हित किया जा रहा है। पराली जलाने की घटना पर नजर रखने के लिए ग्राम्य विकास विभाग के कर्मचारी लगातार क्षेत्र में भ्रमण कर रहे हैं। सैटेलाइट से भी पराली जलाने की घटना की जानकारी जिला प्रशासन को मिल रही है। पराली दो खाद लो स्कीम के तहत भी किसानों को लाभ दिया जा रहा है।

इस स्कीम के तहत बुधवार को बेरुआरबारी और चिलकहर विकासखंड के कर्मचारियों ने 10 ट्राली पराली भी गो आश्रय केंद्रों में भेजा। नवानगर के कर्मचारियों ने पराली वाले खेत में हैप्पी सीडर कृषि यंत्र से बोआई कराई। पराली को सड़ाने के डी-कंपोजर का भी निश्शुल्क वितरण किया गया। जिला कृषि अधिकारी विकेश पटेल ने सभी हार्वेस्टर मालिकों को चेताया है कि बिना पराली प्रबंधन यंत्र लगे धान की कटाई करने वाले हार्वेस्टर जब्त कर लिए जाएंगे। पराली जलाने वाले किसानों के किसान सम्मान निधि के लाभ से भी वंचित कर दिया जाएगा। उन्होंने किसानों से अपील किया है