Friday, December 3, 2021 at 6:09 AM

साल 2022 का चुनाव ऐतिहासिक होगा: अखिलेश

-जनवादी पार्टी की रैली में बोले सपा अध्यक्ष व पूर्व सीएम
-बीजेपी को सबक सिखाने को अखिलेश को सीएम बनाना जरूरी
लखनऊ : राजधानी के रमाबाई अम्बेडकर मैदान में गुरुवार को जनवादी पार्टी (सोशलिस्ट) की महारैली को  सम्बोधित करते हुए सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा के पास नफरत के सिवाय और कुछ नहीं है। वे इसी की राजनीति करते हैं। वे भाईचारा और गंगा जमुनी संस्कृति को खत्म करना चाहते है। भाजपा ने लोगों का हक और सम्मान छीना है और अपमानित किया है। आगे कहा कि साल 2022 में होने वाला चुनाव ऐतिहासिक होगा। जनवादी पार्टी के अध्यक्ष डॉ. संजय चौहान ने कहा कि भाजपा को सबक सिखाने के लिए सपा प्रमुख को मुख्यमंत्री बनाना है। भाजपा वोट लेती है, हिस्सेदारी नहीं देती है। भाजपा सामाजिक न्याय नहीं चाहती है। अखिलेश यादव ने कहा कि आज का नारा यही है कि भाजपा हटाओ, प्रदेश बचाओ। कहा कि बाबा साहेब ने जो सपना देखा था वो सपना पूरा नहीं हुआ। खुशहाली का सपना तब पूरा होगा जब आपकी सरकार बनेगी। उन्होंने कहा चौहान समाज विकास में बहुत पीछे छूट गया है। भाजपा ने उसे पीछे कर दिया है। उन्होंने चौहान समाज से साइकिल को जिताने की अपील की। सपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा ने किसानों को धोखा दिया है। धान की लूट हो गई है। किसान को धान की कीमत नहीं मिली। खाद का अभाव है, बिजली महंगी, डीजल महंगा, बीज महंगा। गन्ना किसान का बकाया नहीं मिला है। किसानों के हित में समाजवादी सरकार मण्डियां बना रही थी। समाजवादी सरकार में बेहतर मंडियों की व्यवस्था होगी। महंगाई रोकना भाजपा के बस में नहीं है, नौजवान बेरोजगारी का शिकार है। नौकरियां नहीं है। भाजपा के लोग उद्योगपतियों की मदद करते है। इन्होंने यूपी को विकास में पीछे कर बर्बाद कर दिया है। इस बार जनता इन्हें बदल देगी। यूपी का सीएम बदल देगी। कहा कि भाजपा सरकार हवाई जहाज ही नहीं, हवाई अड्डे भी बेच रही है। इसी तरह अन्य संस्थाएं भी बेच रही है। जब सब कुछ बिक जाएगा तो गरीब को हक, सम्मान और आरक्षण कहां मिलेगा? कहा कि भाजपा सरकार पिछड़ों की जाति जनगणना नहीं कराना चाहती है। महारैली में जनवादी पार्टी (सोशलिस्ट) के प्रदेश अध्यक्ष राम सुरेश चौहान, सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल, राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी, प्रदेश उपाध्यक्ष हसीब खान, एमएलसी उदयवीर सिंह सहित अन्य नेतागण मौजूद रहें।