Saturday, November 27, 2021 at 4:08 AM

वाहन धुलाई सर्विस सेंटर तैयार कर लेने का खेल अब नहीं चलेगा

भदोही ।  बाकायदा वाहन धुलाई के निकलने वाले पानी को री-यूज करने की व्यवस्था सुनिश्चित करनी होगी। जिलाधिकारी आर्यका अखौरी ने वाहन धुलाई के नाम पर प्रति दिन हजारों लीटर जीवनरूपी जल बर्बाद करने वाले सर्विस सेंटरों पर शिकंजा कर दिया गया है। उन्होंने अभियान चलाकर जांच करने व पानी के री-यूज की व्यवस्था किए बगैर संचालित होने वाले सेंटरों के खिलाफ कार्रवाई का आदेश जारी कर दिया है। देखा जाता है कि तमाम लोग जगह-जगह वाहन धुलाई के नाम पर सर्विस सेंटर स्थापित कर ले रहे हैं। एक गाड़ी की धुलाई के नाम पर सैकड़ों लीटर पानी बहा दिया जा रहा है। इससे जीवनरूपी जल का दोहन हो रहा है।

कहीं भी जल संचयन व री-यूज को लेकर कोई व्यवस्था नहीं दिखती। इसे देखते हुए जिलाधिकारी ने भूगर्भ जल विभाग व लघु सिचाई विभाग को निर्देश जारी किया है कि अभियान चलाकर निरीक्षण कर डोमेस्टिक वाटर के री-यूज कि व्यवस्था सुनिश्चित कराएं। साथ ही निर्देश दिया है कि बगैर अनुमति के कोई भी सर्विस सेंटर नहीं चलना चाहिए। ज्ञानपुर नगर के नथईपुर रोड, ज्ञानपुर देहाती, पटेल नगर सहित कई स्थानों पर वाहन धुलाई सर्विस सेंटर संचालित हो रहे हैं। अधिकतर पर धुलाई के बाद निकलने वाले पानी के री-यूज की व्यवस्था नहीं हैं। इससे पानी अनावश्यक बहकर बर्बाद होता है। डीघ ब्लाक क्षेत्र के सूफीनगर, ऊंज, सुभाष नगर बाजार से समीप वाहन धुलाई सर्विस सेंटर स्थापित किए गए हैं। कहीं भी वाहन धुलाई के बाद निकलने वाले पानी के री-यूज की कोई व्यवस्था सुनिश्चित नहीं हैं।