Wednesday, December 8, 2021 at 3:07 PM

वार्ता छोड़ पुलिस अभिरक्षा में बीच में भागी कुलपति

प्रयागराज। इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्रसंघ भवन पर छात्रसंघ बहाली की मांग को लेकर चल रहे संयुक्त संघर्ष समिति के नेतृत्त्व में छात्र नेता अजय यादव सम्राट के अगुवाई में छात्रसंघ बहाली के आंदोलन का 492 वां दिन भी जारी रहा।
आज छात्रावासों में हो रही अवैध वसूली के लिए कर छात्रों ने कुलपति का घेराव किया और कहा कि, काम नहीं तो वेतन नहीं, निवास नहीं तो शुल्क नहीं, एक समान कानूनी आदर्श है। जब कोरोना महामारी के काल में पूरा विश्व उससे व्यथित था। आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत पूरे देश में लाकडाउन लागू था। ऐसे में छात्र अपने अपने घरों में आपदा प्रबंधन के आदेश के तहत जहां थे वहीं रुक गए, और छात्रावास पूरे काल में रिक्त रहा अब उस कोरोना काल में रिक्त रहे छात्रावास का शुल्क मांगना राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन अधिनियम की धाराओं के विपरीत है। और अमानवीय भी है। इसी कोरोना काल के शुल्क माफी के लिए सैकड़ो छात्र डीएसडब्ल्यू कार्यालय पर पिछले 72 घंटों से आंदोलनरत हैं। जब छात्रों ने कुलपति को घेरने के लिए आगे बढ़ा तो पुलिस प्रशासन ने छात्रों को रोककर पुलिस अभिरक्षा में कुलपति को भगाने का काम किया।
इस मौके पर इलाहाबाद विश्वविद्यालय पूर्व छात्रसंघ उपाध्यक्ष अखिलेश यादव, पूर्व महामंत्री छात्रसंघ शिवम सिंह, छात्र नेता अतेंद्र सिंह, नवनीत यादव, राहुल पटेल, मसूद अंसारी, हरिओम यादव, सत्यम कुशवाहा, मंजीत पटेल, नितिन यादव, आकाश यादव, सुधीर यादव, अभिषेक द्विवेदी,अभिषेक यादव, अजय पाण्डेय बागी आदि छात्र रहे।