Saturday, November 27, 2021 at 1:18 AM

धाम के लोकार्पण से पहले काशी विश्वनाथ मंदिर की दीवारों का किया जा रहा संरक्षण

वाराणसी:प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट श्रीकाशी विश्वनाथ धाम लगभग मूर्त रूप ले चुका है। डेढ़ दशक से ज्यादा समय से काशी विश्वनाथ मंदिर की कलात्मक दीवारों को संरक्षित करने के लिए कवायद चल रही है। श्री काशी विश्वनाथ विशिष्ट क्षेत्र विकास परिषद के अध्यक्ष और मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल ने बताया कि प्रोजेक्ट के तहत जीर्णोद्धार और संरक्षण कार्य की शुरुआत के साथ मंदिर की दीवारों का एनामेल पेंट साफ कराया जा रहा है।

धाम में सिविल इंजीनियरिंग के मुख्य काम पूरे होने के बाद काशी विश्वनाथ मंदिर सहित 17 मंदिरों की कलात्मक दीवारों के संरक्षण और जीर्णोद्धार की प्रक्रिया शुरू की गई थी। धाम के शेष 8 मंदिरों के संरक्षण का काम बाद में किया जाएगा।

काशी विश्वनाथ मंदिर के स्वर्ण शिखर की सफाई का काम भी जल्द शुरू होगा। इस काम के लिए तनिष्क कंपनी को लगाया गया है। अधिकारियों ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों काशी विश्वनाथ धाम के लोकार्पण से पहले स्वर्ण शिखर की सफाई के साथ कलात्मक दीवारों के संरक्षण का काम पूरा कर लिया जाएगा। वहीं, 29 और 30 नवंबर को 12-12 घंटे और 1 दिसंबर को 24 घंटे के लिए मंदिर बंद रहेगा। इस बारे में मुख्य कार्यपालक अधिकारी ने बताया कि यह निर्णय मुख्य मंदिर के संगमरमर के फर्श की सफाई सहित अन्य प्रमुख कार्यों के लिए लिया गया है, जो भक्तों की उपस्थिति में मुश्किल था।