(nail)
(nail)

 एक निशान हो सकता है नाखून(nail) पर  इतना खतरनाक

त्वचा के कैंसर: नाखूनों (nail) पर सफेद और काले निशानों को हम कई बार अनदेखा कर देते हैं. लेकिन जब बांसुरी वादक एलिजाबेथ मिसेलब्रुक ने अपने नाखून पर एक अजीब सी लकीर देखी, तो वह जानती थी कि कुछ सही नहीं है. 40 वर्षीय एलिजाबेथ ने फेसबुक पर चेतावनी देखी थी कि उनके नाखून पर जैसा निशान है वह त्वचा के कैंसर का कारण हो सकता है. लेकिन अफसोस कि तुरंत एक्शन लेने के बाद भी उन्हें अपने हाथ की एक उंगली खोनी पड़ी.

एलिजाबेथ की मां ने किया था गौर
एलिजाबेथ की मां ने पहली बार सितंबर 2019 में उनके नाखून पर लकीर देखी और उसके उन्हें त्वचा विशेषज्ञ के पास भेजा. डॉक्टर ने शुरू में कहा कि उन्हें चिंता नहीं करनी चाहिए और उसे तीन महीने में इसकी दोबारा जांच करानी होगी. लेकिन वह निशान बदलने और बढ़ने लगा – डॉक्टरों को नाखून हटाने और बायोप्सी करने की सलाह दी.

एलिजाबेथ को हुआ कैंसर का शक
एलिजाबेथ ने कहा, ‘मैं चिंतित थी क्योंकि मेरी एक डॉक्टर मित्र हैं, जिन्होंने फेसबुक पर आपके नाखून पर निशान के बारे में कुछ लिखा है जो किसी चीज का इशारा है. लेकिन मैं टेंशन में नहीं थी तब भी मैंने इंतजार नहीं किया. जबकि इसमें खुजली नहीं थी, यह सिर्फ एक फीकी, हल्की भूरी छोटी सी लाइन थी.’ इसके आगे एलिजाबेथ ने बताया कि दिसंबर 2020 में, वह लकीर फिर से बढ़ गई थी.’

फिर बायोप्सी हुई और हुआ कैंसर का खुलासा
इस बढ़ी हुई लकीर को दिखाने जब एलिजाबेथ डॉक्टर के पास पहुंची तो डॉक्टर ने फिर से बायोप्सी कराने की बात कही. जिसके बाद वह कैंसर निकला. वह बोलीं, ‘तो, मई 2021 में डॉक्टर ने कहा कि यह मेलेनोमा है, स्टेज 1 ए, जिसका मतलब है कि यह आक्रामक है लेकिन बहुत ज्यादा नहीं.’ बता दें कि एलिजाबेथ को एक दुर्लभ प्रकार के स्किन कैंसर का पता चला था जिसे एक्रल लेंटिगिनस सबंगुअल मेलेनोमा के रूप में जाना जाता है.

See also  नए साल में नाम के अक्षर से जानिए अपनी और दूसरों की खास बातें...

दूसरों को कर रहीं सावधान
एलिजाबेथ अब दूसरों से ऐसे निशानों को अनदेखा ना करने की अपील कर रही हैं. वह अपनी उंगली खो चुकी हैं और अब वह कृत्रिम उंगली के इंतजार में हैं ताकि वह फिर से बांसुरी बजा सके. एलिजाबेथ ने कहा, ‘क्योंकि मेरी उंगली में दो मेलेनोमा थे जिन्हें पूरी तरह से हटा दिया गया था, वे यह सुनिश्चित करना चाहते थे कि यह फिर से न हो, इसलिए उन्होंने इसे काट दिया. मैं परेशान थी जब उन्होंने कहा कि उन्हें उंगली काटनी होगी. मैं राइटिंग और बांसुरी बजाने जैसी चीजों को लेकर चिंतित थी. मैं बांसुरी बजाना चाहती थी, लेकिन उससे भी ज्यादा मैं और अधिक जीना चाहती थी.’