Saturday, November 27, 2021 at 2:44 AM

धार्मिक स्थलों को बम से उड़ाने की धमकी

हापुड़ । रेलवे विभाग व पुलिस अभी तक पत्र भेजने वाले के बारे में छोटा सा सुराग भी जुटी नहीं सकी है।ऐसे में सुरक्षा के मद्देनजर रेलवे स्टेशन को छावनी में तब्दील कर दिया है। बृहस्पतिवार को अधिकारियों की अगुवाई में स्थानीय पुलिस, आरपीएफ और जीआरपी ने सघन चेकिग अभियान चलाया। स्टेशन अधीक्षक अजब सिंह ने बताया कि 30 अक्टूबर को उन्हें डाकिया द्वारा एक पत्र मिला था। पत्र आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के एरिया कमांडर मोहम्मद आमिर के नाम से था। जिसमें 26 नवंबर को हापुड़, खुर्जा, फिरोजाबाद समेत करीब आधा दर्जन रेलवे स्टेशन को बम से उड़ाने की धमकी दी गई थी। इसके अलावा मुंबई, मध्य प्रदेश, अहमदाबाद समेत विभिन्न राज्यों के धार्मिक स्थलों को भी छह दिसंबर को बम से उड़ाने की धमकी दी गई थी।

ऐसे में सुरक्षा के मद्देनजर रेलवे अधिकारियों समेत आरपीएफ व जीआरपी पुलिस ने बृहस्पतिवार को रेलवे स्टेशन परिसर सहित संदिग्ध लोगों, सामान आदि की चेकिग की। दिनभर स्टेशन पर गश्त कर चेकिग जारी रहा। स्टेशन की प्रत्येक गतिविधि की कड़ी निगरानी की जा रही है। सफाई कर्मचारियों, वेंडरों समेत सभी कर्मियों को निर्देश दिए हैं कि किसी भी संदिग्ध वस्तु या व्यक्ति के दिखाई देने पर तुरंत रेलवे पुलिस को सूचना दें। स्टेशन पर आने वाली सभी ट्रेनों की भी जांच की जा रही है। एसपी दीपक भूकर के निर्देश पर सीओ पिलखुवा डा. तेजवीर सिंह व कोतवाली प्रभारी निरीक्षक सोमवीर सिंह ने भारी संख्या में पुलिस बल के साथ स्टेशन पर चेकिग अभियान चलाया। इस दौरान डाग स्क्वाड की टीम भी मौजूद थी। पुलिस ने लोगों की तलाशी लेने के साथ पहचान पत्र सहित अन्य दस्तावेज चेक किए गए। लोगों के सामान की भी गंभीरता से जांच की गई। संदिग्ध वस्तुओं को भी जांचा गया। सुरक्षा को लेकर एसपी ने स्टेशन पर स्थानीय पुलिस के साथ पीएसी के जवानों को तैनात कर दिया है। एसपी ने बताया कि हर स्थिति से निपटने के लिए पुलिस सक्षम है।

पत्र में 26 नवंबर को हापुड़, खुर्जा, अलीगढ़, कानपुर, टूंडला, बरेली, मुरादाबाद, लखनऊ, गोरखपुर समेत प्रदेश के कई स्टेशनों को उड़ाने की धमकी गई है। इसके अलावा छह दिसंबर को मुंबई, अहमदाबाद, हरिद्वार, अयोध्या, मध्य प्रदेश, जम्मू के धार्मिक स्थलों को उड़ाने की धमकी दी गई है।