Saturday, November 27, 2021 at 12:58 AM

राजनीतिक पार्टियों को रैली के लिए देता था भीड़ फिर बना भू – माफिया अब शराब तस्करी में गिरफ़्तार

 दर्जनों गंभीर मामले में बिट्टू खा चुका है जेल की हवा , हाई प्रोफ़ाइल का आने लगा फ़ोन

>> डीएसपी के नेतृत्व में राजीवनगर और दीघा में वाहनों की ली गयी तलाशी

पटना ( अ सं) । राजनीति में भीड़ का बड़ा महत्व है । जिसके पास जितनी भीड़ होती है उसे उतना ही क़द्दावर माना जाता है । रैली से लेकर स्वागत कार्यक्रम तक भीड़ को हायर किया जाता है । ऐसा ही गैंग का संचालन पटना का बिट्टू करता था और पेट्रोल गैंग चलाता था । जिसमें सैकड़ों मोटरसाइकिल लिए लड़के होते थे । राजनीतिक पार्टियों के नेताओं को बिट्टू भीड़ देता था और रूपये लेता था । इसको लेकर कई बड़े नेताओं से संपर्क हो गया था । अपने ताक़त को महसूस होते ही बिट्टू सैकड़ों लड़कों को लेकर किसी के ज़मीन पर चढ़ जाता था और ज़मीन क़ब्ज़ा कर लेता था । भू – माफिया बनने के बाद बिट्टू ने राजीवनगर के पाटलिपुत्रा स्टेशन के पास बिहार राज्य आवास बोर्ड के प्लॉट को अवैध क़ब्ज़ा कर बेच दिया । ज़मीन क़ब्ज़ा करते- करते बिट्टू शराब तस्करी से भी जुड़ गया और हाईप्रोफ़ाइल ज़िंदगी जीने लगा ।
बिहार में शराबबंदी के बावजूद अंग्रेज़ी शराब का मिलने और ज़हरीली शराब से हुई मौत के बाद पुलिस शराब तस्करी से जुड़े लोगों के खिलाफ कार्रवाई में जुट गयी है । बीते गुरूवार की रात लॉ एंड आर्डर डीएसपी संजय कुमार के नेतृत्व में राजीवनगर एवं दीघा थाना क्षेत्र में सैकड़ों वाहनों की तलाशी लिया गया । इसमें राजीवनगर थानाध्यक्ष सरोज कुमार एवं दीघा थानाध्यक्ष राजेश कुमार डटे रहे । इसी क्रम में लग्ज़री कार की तलाशी लिया गया तो शराब की बोतल बरामद हुई है और साथ में शराब तस्करी में जुड़ा बिट्टू सहित तीन को गिरफ़्तार कर लिया गया है । पूछताछ में कई अहम सुराग मिले है इसके आधार पर कई लोगों के यहां पुलिस ने रेड किया है ।
   गिरफ़्तार किया गया बिट्टू के ऊपर दर्जनों गंभीर मामले दर्ज है और कई बार जेल की हवा खा चुका है । गिरफ़्तार होते ही बिट्टू बचने के लिए कई बहाने बनाया लेकिन उसकी एक नहीं चली ।