Main

Today's Paper

Today's Paper

गरीबों को पक्की छत देने के बाद सरकार उनकी सेहत को लेकर भी चितित

gn

आजमगढ़।  गरीबों को पक्की छत देने के बाद सरकार उनकी सेहत को लेकर भी चितित है। पर्यावरण संरक्षण के साथ ही हरियाली के लिए सहजन के पौधे भी रोपित किए जाएंगे। इसके लिए गृह प्रवेश उत्सव होगा, जिसके लिए शासन से तिथि निर्धारित की जाएगी। आवास योजना का लाभ पाने वाले 25 हजार लाभार्थी पहले अपने दरवाजे पर सहजन के पौध लगाएंगे, फिर पूजन-अर्चन के साथ गृह प्रवेश करेंगे।

केंद्र व प्रदेश सरकार सामाजिक आर्थिक गणना 2011 की सूची में शामिल पात्रों को प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत आवास निर्माण के लिए आर्थिक मदद दे रही है। जिसके तहत प्रत्येक परिवार को 1.20 लाख रुपये दिए जाते हैं। आवास निर्माण को लेकर 90 दिन की मजदूरी भी मनरेगा से दी जाती है। वित्तीय वर्ष 2020-21 में लगभग 25 हजार लाभार्थियों का आवास पूर्णता की तरफ है।

सहजन लंबी फलियों वाली एक सब्जी का पेड़ है, जो भारत के साथ ही अन्य देशों में भी उगाया जाता है। इस पेड़ का हर भाग स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक है। सहजन को अंग्रेजी में मोरिगा या डोमैस्टिक ट्री कहते हैं। ज्यादातर लोग सहजन की फली को सब्जी व अन्य भोजन बनाने में प्रयोग करते हैं। इसमें प्रोटीन, विटामिन, कैल्शियम, आयरन की मात्रा पाई जाती है। पीएम व सीएम आवास योजना के तहत आवंटित आवास का निर्माण प्रगति पर है। शासन की मंशानुसार गृह प्रवेश से पहले सभी लाभार्थियों को आवास के सामने सहजन के पौधे लगाएंगे।

Share this story